हुंडई की सफाई के बाद भी ठंडा नहीं हुआ लोगों का गुस्सा, आला अधिकारी भी उतरे बॉयकॉट के सपोर्ट में

नई दिल्ली : एक पोस्ट को लेकर हुंडई के खिलाफ फूटा भारतीयों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा है। हुंडई पाकिस्तान की ओर से डाली गई पोस्ट पर हुंडई इंडिया अपनी सफाई में बयान जारी कर चुकी है लेकिन फिर भी ट्विटर पर उसे लगातार आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल यह सब शुरू हुआ हुंडई पाकिस्तान की रविवार को डाली गई एक पोस्ट से। ट्विटर हैंडल से डाली गई पोस्ट में लिखा था, ‘चलिए याद करें कश्मीरी भाइयों के बलिदान को और उनका समर्थन करें क्योंकि वे अभी भी आजादी के लिए संघर्षरत हैं।’ इसके साथ #HyundaiPakistan और #KashmirSolidarityDay हैशटैग भी डाला गया था।
बस फिर क्या था यह पोस्ट वायरल हो गई और हुंडई अचानक से सोशल मीडिया में चर्चा में आ गई। ट्विटर पर #BoycottHyundai ट्रेंड करने लगा। सोशल मीडिया पर लोग कंपनी को भला-बुरा कहने लगे। लोग कह रहे थे कि हुंडई ने दुनिया के सबसे बड़े बाजार को समझने में भूल कर दी, अब भारतीय उसे घुटने पर लाएंगे। कुछ लोग तो कंपनी की गाड़ियां ना खरीदने की बातें भी करने लगे। ये सब देखते हुए हुंडई पाकिस्तान के ट्विटर हैंडल से पोस्ट को डिलीट कर दिया गया, लेकिन सोशल मीडिया पर उसका स्क्रीन शॉट वायरल हो गया। कड़ी आलोचना होती देख हुंडई इंडिया को भारत के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को सिद्ध करने के लिए एक बयान जारी करना पड़ा।

इसे भी देखे : महिला के साथ दुष्कर्म, आरोपित गिरफ्तार
लेकिन हुंडई का यह बयान भारतीयों के गुस्से को शांत नहीं कर सका। अभी भी ट्विटर पर #BoycottHyundai और #BoycottKia ट्रेंड कर रहा है। ट्विटर पर एक यूजर ने लिखा है, ‘यहां बात खत्म नहीं हुई। आपकी पेरेंट कंपनी ने एंटीनेशनल एक्ट किया है। आपका व्यवहार जिद्दी किस्म का है और आप गलती स्वीकार नहीं कर रहे हैं, न ही माफी मांग रहे हैं। हुंडई भारत से कमाई करती है, इसे सेकंड होम बताती है और इसे ही डैमेज कर रही है।’

इसे भी देखे : वासेपुर के प्रिंस खान ने मांगी आउटसोर्सिंग के लाइजनिंग अधिकारी से रंगदारी, नहीं देने पर AK-47 से उड़ाने की धमकी
एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘जब कॉरपोरेट ये भूल जाते हैं कि वे क्या हैं और राजनीति में घुसने लगते हैं तो यही होता है। हुंडई को भारत और पाकिस्तान में अपने कारोबार के साइज पर विचार करना चाहिए। यह बयान जो बिगड़ा है, उसे सुधारने में मदद नहीं करेगा।’

इसे भी देखे : क्रिप्टोकरेंसी पर सरकार का बड़ा ऐलान- 30% टैक्स
एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘हुंडई इंडिया, आपकी बिक्री भारत में हर साल पाकिस्तान की पूरी ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री की कुल बिक्री के मुकाबले 3 गुना ज्यादा रहती है। आप न केवल हमारी भावनाओं के प्रति असंवेदनशील हैं बल्कि आपका बिजेनस सेंस भी जीरो है।’

इसे भी देखे : रांची में कांके के पूर्व सीओ,अनिल कुमार पर विभागीय कार्यवाही
आला अधिकारी भी हुंडई से नाराज
इंडियन आर्मी के रिटायर्ड जनरल ऑफिसर केजेएस ढिल्लन भी बॉयकॉट हुंडई के साथ उतर आए हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘हमने बहादुर सिपाहियों और निर्दोष निहत्थे नागरिकों का बलिदान दिया है। उनका बलिदान हम भारतीयों के लिए ज्यादा मूल्यवान है।’

Advt


आईपीएस अरुण बोथरा ने कहा, ‘मेरी व्यक्तिगत क्षमता और सीमित पहुंच में, मैं हर किसी से अपील करता हूं कि हुंडई की वाहन न खरीदें। मैं पहली बार किसी बॉयकॉट कॉल को सपोर्ट कर रहा हूं। उनके मन में हमारी राष्ट्रीय भावनाओं के लिए कोई सम्मान नहीं है। उनके द्वारा जारी किया गया आधा-अधूरा बयान बताता है कि उन्हें कोई पछतावा भी नहीं है।’

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और खबरें देखने के लिए यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। www.avnpost.com पर विस्तार से पढ़ें शिक्षा, राजनीति, धर्म और अन्य ताजा तरीन खबरें


फिल्म मेकर विवेक रंजन अग्निहोत्री ने ट्वीट किया है, ‘प्रिय भारतीयों, हुंडई इंडिया का यह डिप्लोमेटिक और नॉन कमिटल स्टेटमेंट मुझे बिल्कुल भी स्वीकार्य नहीं है। जब तक Hyundai Corporation यह बयान जारी नहीं करती कि ‘कश्मीर भारत का एक अभिन्न अंग है, उन्हें व्यापार करने से रोका जाना चाहिए। ‘भारत में Hyundai को TATA कहने का समय आ गया है’, कश्मीर पर कमेंट से फूटा गुस्सा दोस्तों क्या आप सहमत हैं?’

This post has already been read 11577 times!

Sharing this

Related posts