सर्दियों में ये 5 चीजें करेंगी बीपी और डायबिटीज पर नियंत्रण

डायबिटीज या मधुमेह दुनियाभर में तेजी से फैल रही है. हर मिनट के साथ ही डायबिटीज के मरीजों की संख्या भी बढ़ती जा रही है. अगर ताजा अध्ययन की बात की जाए तो साल 2030 तक 98 मिलियन यानी 9.8 करोड़ भारतीय डायबिटिक होंगे. आपका आहार डायबिटीज को मैनेज करने में काफी मददगार साबित हो सकता है. सौभाग्य की बात यह है कि सर्दियां अपने साथ ऐसे कई आहार, फल, सब्जियां लेकर आतीं हैं जो डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करती हैं। सर्दियों में ऐसे कई मसाले हम आहार में शामिल कर सकते हैं जो मधुमेह में लाभकारी साबित हो सकते हैं। इस मौसम में आने वाले कई फल आपको नेचुरली डायबिटीज मैनेज करने में मदद करते हैं। तो चलिए हम आपको बताते हैं ऐसे ही कुछ खाद्य पदार्थों के बारे में जो ब्लड शुगर लेवल () को कंट्रोल करने में मदद करेंगे।

सर्दियों में डायबिटीज के मरीज खाएं अमरूद

सर्दियों में आपको यकीनन अमरूद पसंद होंगे। अमरूद डाइड्री फाइबर का अच्छा सोर्स है. फाइबर ब्रेकडाउन होने में और पचने में काफी लंबा समय लेते हैं. ऐसे आहार जो पचने में समय लेते है वे एकदम से होने वाले ब्लड शुगर स्पाइक को कंट्रोल करते हैं. इसके साथ ही साथ अमरूद में लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है. ग्लाइसेमिक इंडेक्स यानी जीआई कार्बोहाइड्रेट की रिलेटिव रेंकिंग है. यह आपके ब्लड ग्लूकोज का स्तर तय करता है. डायबिटीज या मधुमेह के मरीजों को लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स (55 से कम) फूड लेना चाहिए। यह अचानक से होने वाले ब्लड शुगर स्पाइक को कंट्रोल करता है।

सर्दियों में डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए खाएं दालचीनी

ऐसे कई मसाले हैं जो औषधिय गुणों से भरपूर हैं. इन्हीं में से एक है दालचीनी। क्या आप जानते हैं कि दालचीनी डायबिटीज में मददगार साबित हो सकती है दालचीनी पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में फायदेमंद है. इससे ग्लूकोज और ट्रेग्लासराड्स जो कि एक तरह का फैट है, के स्तर को नियंत्रित करने में मददगार है. यह डायबिटीज और ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने का काम करता है और साथ ही साथ दिल के रोगों के लिए भी बहुत बढ़िया है. डायबिटीज कम करने के लिए दालचीनी का इस्तेमाल कैसे करें। अगर आप यह सोच रहे हैं तो हम आपको बता दें कि यह बेहद ही आसान है. आपको बस रोज सुबह पानी में दालचीनी डाल कर पी लें।

डायबिटीज को कंट्रोल करने में मददगार है संतरा

अमेरिकन डायबिटीज एसेसिएशन के अनुसार, संतरे की प्रजाति के फल जैसे नींबू, संतरा, कीनू वगैरह डायबिटीज सुपरफूड हैं. इन्हें डायबिटीज से बचने के लिए अपने आहार में जरूर शामिल करें. संतरे में लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है. आप इन्हें सलाद में, जूस या ऐसे ही कच्चा खा सकते हैं. मधुमेह को दूर करेगी गाजर क्रंची और पोषण से भरपूर गाजर किसे नहीं पसंद. सर्दियों में गाजर का जूस, गाजर की सब्जी और गाजर का हलवा खूब पसंद किया जाता है. गाजर में फाइबर भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. जो खून में शुगर रिलीज को धीमा करते हैं. इसके साथ ही साथ गाजर का ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी बहुत ही कम होता है, जो इसे डायबिटीज के लिए अच्छा आहार बनाता है.

मधुमेह या डायबिटीज को कम करने के घरेलू नुस्खे में शामिल करें लौंग

लौंग तकरीबन हर भारतीय रसोई में होती है. लौंग जिसे इंग्लिश में क्लोव कहा जाता है, में वॉलेटाइल ऑयल होते हैं। जो एंटीइंफलेमेट्री, एनाल्जेसिक और डाइजेस्टिव फायदे देती है। इस मसाले यानी लौंग को ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है. लौंग डायबिटीज में इसलिए भी फायदेमंद होता है, क्योंकि यह इंसुलिन बनाने में मददगार है। हाल ही में सामने आई एक स्टडी में यह बात सामने आई कि अनुवांशिक डायबिटीज में भी लौंग मददगार साबित होती है।

तो इस्तेमाल करें ये आहार और देखें बदलाव पर इस बात का ध्यान रखें कि अपने आहार में कोई भी बदलाव करने से पहले आप अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और खबरें देखने के लिए यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। www.avnpost.com पर विस्तार से पढ़ें शिक्षा, राजनीति, धर्म और अन्य ताजा तरीन खबरें

This post has already been read 77954 times!

Sharing this

Related posts