कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर केआर रमेश कुमार ने मंगलवार को साफ़ किया है

बेंगलुरु । कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर केआर रमेश कुमार ने मंगलवार को साफ़ किया है कि इस्तीफ़ा देने वाले विधायक व्यक्तिगत रूप से उनके पास आएं और स्पष्टीकरण दें तभी मैं उनके इस्तीफ़ों पर कार्रवाई करूंगा। प्रत्येक विधायक से बात करे बिना वह उनके इस्तीफे स्वीकार नहीं करेंगे। 

उन्होंने बताया कि शनिवार को इस्तीफ़ा देने वाले विधायक मुलाक़ात के लिए समय लेने में विफल रहे और वह मेरी गैरहाजिरी में अचानक कार्यालय आये और इस्तीफे देकर चले गए। यदि उन्होंने मेरी अनुपस्थिति में इस्तीफे दिए हैं तो इसके लिए मैं जिम्मेदार नहीं हूं। हमारे कुछ नियम हैं, मैं उनका पालन करूंगा। उसके बाद ही फैसला होगा। मुझे स्पीकर होने की जिम्मेदारी निभानी होगी। यहां किसी भी समय सीमा का जिक्र नहीं है।
उन्होंने कहा कि वर्तमान राजनीतिक घटनाक्रम से उनका कोई लेना-देना नहीं है। वह संविधान के अनुसार काम कर रहे हैं। अब तक किसी भी विधायक ने मुझसे मिलने की बात नहीं की है। अगर कोई मुझसे मिलना चाहता है तो मैं अपने कार्यालय में उपलब्ध हूं। गौरतलब है कि सोमवार को दो निर्दलीय विधायकों ने भी कर्नाटक की कांग्रेस-जेडीएस सरकार से समर्थन वापस ले लिया है। दोनों विधायकों को मिलाकर अब तक 15 विधायकों ने कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार से अपना समर्थन वापस लिया है। कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुंडु राव ने मंगलवार को कहा कि उन्हें भरोसा है कि सरकार नहीं गिरेगी।

This post has already been read 6217 times!

Sharing this

Related posts