झारखंडः दोे समुदायों के बीच फिर पथराव, कई घायल, पुलिस ने लाठीचार्ज कर 25 को गिरफ्तार किया

  • तनावपूर्ण माहौल को देखते क्षेत्र में धारा 144 लागू
  • पुलिस घर-घर तलाशी अभियान चलाने की तैयारी में


रामगढ़। जिले के रजरप्पा थाना क्षेत्र के सिकनी गांव में रविवार कोे भी दाेनों पक्षों में पथराव हुआ, जिसमें कई लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ा और 25 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने एक घर के बाहर से कई वाहनों को जब्त किया है। प्रशासन ने क्षेत्र में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया है। तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए क्षेत्र में धारा 144 लगा दी गई है।
एसपी निधि द्विवेदी ने बताया कि सिकनी गांव में सांप्रदायिक तनाव अभी भी बना हुआ है। वहां कुछ लोगों ने बड़ी घटना को अंजाम देने की तैयारी की थी लेकिन जिला प्रशासन की मुस्तैदी से उनके मंसूबे नाकाम कर दिए गए। इलाके में शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए प्रशासन कड़े कदम उठा रहा है। उन्होंने बताया कि इस मामले में दो दर्जन से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है और कई वाहन जब्त किए गए हैं। कई घरों की तलाशी लेने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने बताया कि सिकनी के कुछ घरों में पत्थरबाजों ने पहले से ही पत्थर जमा करके रखे थे। उन्होंने बताया कि कुछ संदिग्ध लोगों के घरों की तलाशी ली जाएगी। इस गांव में कुछ लोग बाहर से भी आए हैं। वे वहां क्यों हैं और उनके मंसूबे क्या थे, इस पर भी पुलिस नजर बनाए हुए है।
एकदिन पूर्व ही रामनवमी पर जुलूस के दौरान सिकनी के भथियाटोला में दो समुदायों में पत्थरबाजी की घटना के बाद शनिवार को गांव में तनावपूर्ण माहौल रहा था। रविवार को दोनों समुदाय के लोगों ने अलग-अलग बैठकें की। 10 बजे अचानक दोनों ओर से फिर पथराव होने लगा और भगदड़ की स्थिति बन गई। इसके बाद मौके पर रजरप्पा थाना प्रभारी कमलेश पासवान और दुलमी बीडीओ जयाशंखी मुर्मू के नेतृत्व में लाठीचार्ज किया गया, जिसमें दोनों समुदाय से लगभग 25 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सिकनी के विरहोटुंगरी के समीप एक घर में खड़े दर्जनों बाइकों को भी जब्त किया गया। घटना की सूचना के बाद रामगढ़ एडिशनल एसपी गुलशन तिर्की, एसडीओ अनंत कुमार, एसडीपीओ राधा प्रेम किशोर ने पुलिस बल के साथ मोर्चा संभाला और दोनों ओर से उपद्रवियों को खदेड़ा। घटना के बाद एसडीओ ने लाउडस्पीकर से घोषणा कर पूरे सिकनी गांव में धारा 144 लगा दी। साथ ही जगह-जगह पुलिस जवान तैनात किए गए हैं।
इस संबंध में एसडीओ अनंत कुमार ने बताया कि रविवार को सिकनी गांव में तनाव कम करने को लेकर प्रशासन मुस्तैद है। बैठक के दौरान ही पुलिस एवं प्रशासन के लोगों पर एकबार फिर लोगों ने पथराव किया, जिससे कई लोगों को चोटें आईं हैं। इसके बाद प्रशासन ने सख्ती बरती और पूरे क्षेत्र धारा 144 लगा दी। रामगढ़ एसडीओ ने बताया कि रविवार को करीब दस बजे शांति समिति की बैठक के लिए दोनों समुदाय के लोगों को बुलाया गया था। शांति वार्ता से पूर्व दोनों समुदाय के लोगों ने अपने-अपने समुदाय की बैठक करने की कोेशिश की, तभी दोनों पक्षों के बीच फिर पथराव शुरू हो गया। पुलिस ने लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ा। गांव में कई जगह पुलिस बल तैनात है। फिलहाल अभी स्थिति नियंत्रण में है। 
रविवार को सिकनी में काफी तनावपूर्ण का माहौल रहा, जिससे ग्रामीणों में दहशत है। धारा 144 लगाने के बाद पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। 

This post has already been read 9010 times!

Sharing this

Related posts