Jharkhand : जल्द ही राज्य में शुरू होगा फ्लाइंग एकेडमी, एयर होस्टेस के प्रशिक्षण की भी होगी सुविधा,जाने पूरी खबर


Ranchi : नागर विमानन विभाग को और बेहतर तथा क्रियाशील बनाने की जरूरत है । इस विभाग को एक रेवेन्यू मॉडल के रूप में विकसित किया जाना चाहिए। इससे राज्य में विमानन सेवाओं को और बेहतर बनाने में मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने आज नागर विमानन विभाग की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को ये निर्देश दिए। इस बैठक में नागर विमानन विभाग की सेवाओं का व्यवसायिक इस्तेमाल, फ्लाइंग एकेडमी शुरू करने, नागर विमानन निदेशालय का गठन और हवाई अड्डा परिसर में सोलर पार्क की स्थापना करने समेत कई अन्य विषयों पर विस्तार से विमर्श हुआ ।

और पढ़ें : विधायक बंधु तिर्की के खिलाफ ईडी ने की जांच शुरू

नागर विमानन के व्यवसायिक इस्तेमाल को लेकर योजना बनाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान परिदृश्य में नागर विमानन विभाग की सेवाओं को सरकार की जरूरतों के साथ-साथ व्यवसायिक बनाने की आवश्यकता है, ताकि सरकार को अतिरिक्त राजस्व की प्राप्ति हो सके। उन्होंने विभाग के अधिकारियों को इस दिशा में योजना बनाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि इसके लिए टूरिज्म सर्किट और एंबुलेंस सेवा समेत अन्य बेहतर विकल्प तलाशने की दिशा में पहल करने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस दिशा में जरूरत पड़ने पर और भी चौपर सरकार उपलब्ध कराएगी।

इसे भी देखें : एक बार जरूर जाएं नकटा पहाड़…

फ्लाइंग एकेडमी शुरू करें

मुख्यमंत्री ने राज्य के युवाओं के विमानन क्षेत्र में बेहतर भविष्य को लेकर नागर विमानन विभाग को फ्लाइंग एकेडमी शुरू करने की दिशा में पहल करने का निर्देश दिया। यहां एयर होस्टेस की ट्रेनिंग की भी व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि फ्लाइंग एकेडमी के संचालन को लेकर लगभग सारी आधारभूत संरचना हमारे यहां उपलब्ध है। ऐसे में इसका सदुपयोग किया जाना चाहिए। इस मौके पर उन्होंने विभाग को 31 जुलाई तक विस्तृत कार्य योजना बनाने को कहा ताकि इसे शुरू किया जा सके ।

और पढ़ें : झारखण्ड में होने वाले पंचायत चुनाव का अधिसूचना जल्द होगा जारी

रांची एयरपोर्ट पर ‘नाइट हॉल्ट” की व्यवस्था शुरू हो

मुख्यमंत्री ने कहा कि रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर नाइट हॉल्ट की सुविधा शुरू होनी चाहिए । इसके लिए विभिन्न विमानन कंपनियों से संपर्क करने का निर्देश उन्होंने अधिकारियों को दिया । उन्होंने कहा कि यहां नाइट हॉल्ट की सुविधा शुरू होने से अहले सुबह भी विमानन सेवाओं को और सुचारू तरीके से संचालित किया जा सकेगा, जिसका फायदा विमान यात्रियों को होगा।

इसे भी देखें : क्या आप कभी गए हैं रंगरौली धाम! यहां होती है मुर्गे की बलि

हवाई अड्डों के परिसर में सोलर पार्क स्थापित किए जाएं

मुख्यमंत्री ने दुमका, धनबाद, गिरिडीह,बोकारो और देवघर समेत अन्य हवाई अड्डों के परिसरों में सोलर पार्क स्थापित करने का भी निर्देश अधिकारियों को दिया । उन्होंने नागर विमानन निदेशालय का गठन करने की दिशा में सभी जरूरी कदम उठाने को भी कहा। उन्होंने कहा कि सरकार की यही कोशिश है कि राज्य में भी विमानन सेवाओं का फायदा ज्यादा से ज्यादा लोगों की पहुंच में हो।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और खबरें देखने के लिए यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। www.avnpost.com पर विस्तार से पढ़ें शिक्षा, राजनीति, धर्म और अन्य ताजा तरीन खबरें…

This post has already been read 16625 times!

Sharing this

Related posts