मांग नहीं मानने पर सहकारी बैंक कर्मचारी संघ का 25 अप्रैल को महाधरना

रांची। झारखंड राज्य सहकारी बैंक कर्मचारी संघ की बैठक रांची स्थित सहकारी बैंक के मुख्यालय में 3 अप्रैल को हुई। इसमें बैंक और कर्मचारियों के हितों पर चर्चा और मंथन किया गया। मंथन कर आगे की रणनीति तय की गई। बैठक की अध्‍यक्षता संघ के अध्यक्ष अनिल पी पन्ना ने की।

ये भी देखें : संजना झारखण्ड की मशहूर कोरिओग्राफर

तय किया गया कि संघ के सदस्‍य अप्रैल के दूसरे सप्‍ताह में प्रशासक से मिलेंगे। मांगें नहीं माने जाने पर 25 अप्रैल, 2022 को महाधरना देंगे। इसके बाद काला बिल्ला लगाकर प्रदर्शन करेंगे। सदस्‍यों ने कहा कि अंतत: एक दिन की हड़ताल और तालाबंदी भी की जा सकती है।

इसे भी पढ़ें : आर्यन खान ड्रग्स केसः गवाह प्रभाकर की मौत की होगी जांच, गृहमंत्री पाटिल ने दिए डीजीपी को आदेश

बैठक में महासचिव चंदन कुमार प्रसाद, वित्त सचिव निखिल बंका, उप महासचिव संतोष साहू, राजीव रंजन, मुकेश कुमार, नवीन सेठ, राहुल कुमार, संजय कुमार, मुकेश साव, अविनाश जायसवाल, सुनील राम, दीपक कुमार, रवि प्रकाश, हीरालाल राउत, सुबल मंडल, मनीष कुमार, अमित कुमार, रमेश राव, अमित कुमार, संजय दास, आशिष कुमार आदि मौजूद थे।

संघ की मांगें

▪ ग्रेड-पे में बढ़ोतरी।

▪ बैंक में नये सीईओ की अविलंब बहाली।

▪ कर्मचारियों को प्रमोशन।

▪ रिक्त पदों पर बहाली ।

▪ स्टेशनरी आपूर्ति की समस्या का समाधान।

▪ बैंक की विभिन्न नीति (SOP) का निर्माण।

▪ कर्मचारियों का मेडिकल इंश्‍यारेंस।

▪ बैंक में शीर्ष प्रबंधन का गठन।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और खबरें देखने के लिए यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। www.avnpost.com पर विस्तार से पढ़ें शिक्षा, राजनीति, धर्म और अन्य ताजा तरीन खबरें…

This post has already been read 12032 times!

Sharing this

Related posts