ईरान में मानवाधिकार की वकील को 38 साल की जेल

तेहरान । ईरान में मानवाधिकारों के लिए कानूनी लड़ाई लड़ने वाली वकील नजरीन सुतोदेह को 38 साल की जेल की सजा सुनायी गई है।
नजरीन को राष्ट्रीय सुरक्षा के विरुद्ध अपराध करने और शीर्ष नेता को बेइज्जत करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उसे मानवाधिकार के हक में सिर पर स्कार्फ को अनिवार्य करने के विरुद्ध लड़ाई लड़ने के लिए जाना जाता है।
नजरीन के पति रेजा खनदान ने फेसबुक पर जानकारी दी कि मंगलवार को नजरीन को 33 साल की सजा सुनाई गई है और पांच साल तक वह एबसेंटिया की जेल में रहेंगी।
उल्लेखनीय है कि इस केस में फैसला सुनाने वाले जज मुहम्मद मोगीसेह ने इसका खंडन करते हुए बताया कि सुतोदेह को सात साल की सजा सुनाई गई है।
हालांकि रिपोर्ट में भिन्नता के कारण अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है।

This post has already been read 7436 times!

Sharing this

Related posts