मसूद अजहर पर बैन न लगा तो क्षेत्रीय शांति के लिए खतरा: अमेरिका

वॉशिंगटन । यूएन सिक्योरिटी काउंसिल की बैठक के बाद अमेरिका ने यह घोषित किया है कि मसूद अजहर वैश्विक आतंकी है। वह आतंकी होने के सारे मापदंडो से मेल खाता है। मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने के मामले में अमेरिका भारत के साथ है। अमेरिका ने कहा कि अजहर पर बैन न लगाना हमारे मकसद के खिलाफ है। अगर इस पर प्रतिबंध नहीं लगाया गया तो यह क्षेत्रीय शांति के लिए खतरा बन सकता है।
मसूद अजहर जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन का सरगना है जिसे भारत और पाकिस्तान सहित अन्य देशों में आतंकी गतिविधियों में शामिल पाया गया है। अभी हाल ही में भारत में जम्मू के पुलवामा में जवानों के संगठन पर हुए हमले की जिम्मेदारी जैश-ए मोहम्मद ने ली थी।
यूएस के उप प्रवक्ता रॉबर्ट पैलेडिनो ने बताया कि मसूद अजहर जैश-ए-मोहम्मद संगठन का संस्थापक है और यूएस की ओर से जारी किए गए मापदंड से मेल खाता है कि वो एक वैश्विक आतंकी है। जैश-ए मोहम्मद संगठन कई आतंकवादी गतिविधियों में शामिल है और क्षेत्रीय स्थिरता और शांति के लिए अभिशाप है। उन्होंने कहा कि जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ लड़ाई लड़ने में भारत और अमेरिका साथ है। जैशे-मोहमम्द के विचारों के बारे में हम सबको पता है। यूनाइटेड नेशन्स ने भी जैश को आतंकी संगठन घोषित किया है।

This post has already been read 7300 times!

Sharing this

Related posts