समय के साथ चेकअप जरूरी है सेहत के लिए

अच्छा स्वास्थ्य सबकी चाहत होती है। बहुत से लोग स्वयं को स्वस्थ रखने के लिए योगा, सैर, जिम, व्यायाम, तैराकी आदि नियमित रूप से करते रहते हैं। बहुत कम लोग ऐसे हैं जो अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक न हों। अच्छी सेहत बहुत बड़ी देन है। भगवान की इस देन को आगे बरकरार रखने के लिए हमें समय-समय पर डाक्टरों से सलाह लेते रहना चाहिए और उनके परामर्शानुसार अपनी जांच आदि करवाते रहना चाहिए ताकि बीमारी को अधिक पनपने से रोका जा सके। यदि जांच के दौरान शुरुआती लक्षण दिखायी…

Read More

प्री डायबिटीज को किया जा सकता है रिवर्स

केवल शकर खाने से ही कोई प्री-डायबिटिक नहीं हो जाता, बल्कि जिन लोगों में सामान्य से अधिक मात्रा में हेल्दी ब्लड शुगर पाया जाता है उनमें भी टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा 5 से 15 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। इतना ही नहीं प्री-डायबिटिक में हार्ट अटैक, स्ट्रोक, डिमेंशिया, किडनी और आंखों के डैमेज होने, रक्तसंचार सुचारू नहीं होने से पैरों में दर्द का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में प्री-डायबिटीज की पहचान करना जरूरी हो जाता है। वजन से डायबिटीज पर कंट्रोल अधिकांश प्री-डायबिटिक को इस बात की…

Read More

पित्त और कफ विकारों का घरेलू उपचार है गूलर

मोरासी परिवारी का सदस्य गूलर लंबी आयु वाला वृक्ष है। इसका वनस्पतिक नाम फीकुस ग्लोमेराता रौक्सबुर्ग है। यह सम्पूर्ण भारत में पाया जाता है। यह नदी−नालों के किनारे एवं दलदली स्थानों पर उगता है। उत्तर प्रदेश के मैदानों में यह अपने आप ही उग आता है। इसके भालाकार पत्ते 10 से सत्रह सेमी लंबे होते हैं जो जनवरी से अप्रैल तक निकलते हैं। इसकी छाल का रंग लाल−घूसर होता है। फल गोल, गुच्छों में लगते हैं। फल मार्च से जून तक आते हैं। कच्चा फल छोटा हरा होता है पकने…

Read More

मुश्किल नहीं है मोतियाबिंद का इलाज

वृद्धावस्था में आंखों की रोशनी वैसे भी कम होने लगती है और एक अवस्था ऐसी आती है एकदम से दिखना बन्द हो जाता है। इस अवस्था में परेशानी का प्रारम्भ होता है। भारत वर्ष में अन्धत्व के प्रमुख कारणों में मोतिया बिन्द प्रमुख है। अस्सी प्रतिशत अन्धत्व का कारण मोतियाबिन्द नामक बीमारी है। मोतियाबिन्द एक रोग है जिसका संबंध हमारी आयु से होता है। वृद्धावस्था में आमतौर से मोतियाबिन्द हो जाता है। हमारी आंख में एक पारदर्शी लेन्स होता है। यह लेन्स धुंधला पड़ जाता है और अपनी पारदर्शिता खो…

Read More

सोने से पहले करें इस जूस का सेवन, मोटापा हो जाएगा छूमंतर

मोटापा घटने के लिए आप कई तरह के तरीका आजमाते हैं। डाइटिंग से लेकर एक्सरसाइज और कुछ घरेलू उपाय अपनाकर भी अगर मोटापा कम नहीं हुआ है, तो अब अपनाएं यह आसान तरीका। बस सोने से पहले एक गिलास जूस पीकर आप मोटापा कम कर सकते हैं, वह भी तेजी से। तो फिर देर किस बात की…अभी जानिए इस खास जूस को बनाने का तरीका। तेजी से मोटापा घटाने वाले इस जूस को बनाने के लिए आपको कोई खास चीज की जरूरत भी नहीं है। आपके घर में आम तौर…

Read More

इन टिप्‍स पर अमल करके हराएं माइग्रेन के दर्द को

आज हर सात लोगों में से एक शख्‍स माइग्रेन से परेशान है। इस हिसाब से यह डाय‍बीटीज, मिर्गी और अस्‍थमा इन तीनों रोगों से ज्‍यादा माइग्रेन के रोगी हैं। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने इसे ऐसी बीमारी माना है जो व्‍यक्ति को जीवनभर के लिए अशक्‍त बनाए रहती है। इसके बावजूद समाज में इसे लेकर जागरुकता और समझ की काफी कमी है। लेकिन अगर माइग्रेन से होने वाली तकलीफ से निजात पाना है तो इसे समझना होगा फिर इसका इलाज किया जा सकता है: पहचानें माइग्रेन है क्‍या माइग्रेन के सिर…

Read More

गुर्दे की पथरी है आम बीमारी, बचें कैसे

मानसी के ससुर लगभग साठ वर्ष के हैं। उसने बताया कि उनके कमर में, पेट तथा रीढ़ की हड्डी के आसपास तेज दर्द होता है। चूंकि वे लोग शहर में नए हैं इसलिए मानसी को मैंने तुरंत अपने फैमिली डॉक्टर से मिलने की सलाह दी। जांच के बाद डॉक्टर ने बताया कि उन्हें गुर्दे की पथरी के कारण यह तकलीफ हो रही है। मानसी के ससुर काफी घबराए हुए थे क्योंकि वे आपरेशन करवाने से बहुत डरते हैं। परंतु डॉक्टर ने उन्हें किरणों से इलाज के बारे में बताया तो…

Read More

परेशान न कर दे सर्दी-जुकाम

मौसम बदलने पर सर्दी, जुकाम, खांसी, गला खराब आदि समस्याएं आम हो जाती हैं। डायबिटीज, बीपी, एलर्जी आदि से पीड़ित व्यक्तियों के बीमार होने की आशंका भी बढ़ जाती है। ऐसे में जरूरी हो जाता है कि विशेष सावधानी बरती जाए, ताकि आप स्वस्थ रह सकें। तन-मन को रोमांचित करने वाला यह मौसम कई तरह की बीमारियां लेकर आया है। मौसम का बदलता मिजाज, सुबह-शाम की ठंड और  दोपहर की अच्छी धूप कॉमन कोल्ड, ब्रोंकाइटिस, सर्दी-जुकाम, खांसी, सांस लेने में तकलीफ, गले में खराश और फेफड़ों और सिर में जकड़न,…

Read More

घरेलू चीजें अपनाओ, सेहत बनाओ

फिट रहना हर किसी की चाहत होती है। हालांकि इसके लिए एफर्ट कम ही लोग कर पाते हैं। यहां हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसी चीजों के बारे में जिनकी मदद से आप फिट रह सकते हैं। सीफूड:- अगर आप हफ्ते में तीन बार मछली खाते हैं, तो आपके झुर्रियां पडऩे के चांस 30 फीसदी कम हो जाते हैं। दरअसल, सीफूड प्रोटीन, मिनरल्स और ओमेगा-3 फैट के मामले में काफी रिच होता है। इसमें मौजूद न्यूट्रिएंटस न सिर्फ आपकी मसल्स को स्ट्रॉन्ग रखते हैं, बल्कि आपकी स्किन को भी…

Read More

(कहानी) मंगली की टिकुली

-भैरव प्रसाद गुप्त- शाम झुक आयी, तो मंगली ने ताखे से ठिकरा उठाया और दीवार पर खिंची चिचिरियों के आगे एक और चिचिरी खींच दी। ठिकरा ताखे पर रखकर वह चिचिरियां गिनने लगी- एक-दो-तीन … दस तक वह गिन चुकी, तो उसने बायें हाथ की कानी अंगुली मोड़ ली। दस तक ही गिनती उसे आती थी … रामा ने कहा था कि जिस दिन उसकी तीन अंगुलियां मुड़ जाएंगी, उसी दिन शाम को अंधेरा भींगते ही वह आएगा और पोखरे के भींटे पर उससे मिलेगा। पिछले छः महीने से इसी…

Read More