झारखंड के 15 युवाओं को मिला पुणे में नियुक्ति पत्र, नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रयास से मिला नियुक्ति पत्र…

रांची। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की प्रदेश के युवाओं के भविष्य को लेकर संवेदनशीलता का हीं ये नतीजा है कि राज्य के वैसे छात्र जो महज दसवीं की परीक्षा पास कर दो महीने का प्रशिक्षण प्राप्त किए हैं, उन्हें पुणे जैसे शहर की कंपनिया अच्छे पैकेज पर सीधे बुला रही हैं।

इसे भी पढ़ें : सर्दियों में मूली खाने के होते हैं बड़े फायदे जान कर रह जायेंगे दंग…

जी हां 22 नवंबर दिन सोमवार को राज्य सरकार के नगर विकास एवं आवास विभाग अंतर्गत नगरीय प्रशासन निदेशालय कार्यालय में बड़की सरैया नगर पंचायत के ऐसे हीं 15 युवाओं को मात्र दो माह के प्रशिक्षण पर प्रतिमाह 17 हजार पांच सौ रुपए की सैलरी पर नियुक्ति पत्र दिया गया। ये वो छात्र हैं जो मैट्रिक के बाद इंटरमीडिएट और कुछ स्नातक की शिक्षा ले रहे हैं।

निदेशक ने दिया नियुक्ति पत्र

नगरीय प्रशासन निदेशालय की निदेशक विजया जाधव नें युवाओं को नियुक्ति पत्र देने से पहले कई आवश्यक सुझाव भी दिए। विजया जाधव नें कहा कि आप सभी युवाओं को यहीं नहीं रुकना है आप अपने कार्य में निपुण होकर आगे का अवसर तलाशें और आगे की पढ़ाई भी जारी रखें। अपने शहर से दूर जा रहे हैं तो संयमित होकर कार्य करें और अपनी आमदनी से कुछ बचत कर परिवार को भी आर्थिक मदद पहुंचाएं।

Advertisement

उन्होंनें युवाओं से यह भी आग्रह किया कि वो ग्रामीण क्षेत्र के बेरोजगार युवाओं को इन योजनाओं के बारे में बताएं ताकि उनको इसका लाभ मिल सके। उन्होंनें कहा कि माननीय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के आशीर्वाद से और नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव श्री विनय कुमार चौबे जी के मार्ग दर्शन में हम और भी युवाओं को इस प्रकार की नौकरी उपलब्ध करानें के दिशा में लगातार प्रयासरत हैं।

दीनदयाल अंत्योदय योजना व एनयूएलएम के तहत मिली नौकरी

दरअसल दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के घटक अंतर्गत बड़की सरैया नगर पंचायत के कुल 16 युवकों को सिपेट के द्वारा रांची झारखंड में 480 घंटे का मशीन ऑपरेटर एस्सिटेंट प्लास्टिक प्रोसेसिंग के जॉब रोल पर आवासीय प्रशिक्षण दिया गया था जिसके बाद पुणे की जयहिंद ऑटोटेक इंडस्ट्रीज नें 16 में से 15 युवाओं को कैंपस सेलेक्शन के तहत 17500रु/ प्रति माह पर रख लिया है और राज्य सरकार के माध्यम से नियुक्ति पत्र प्रदान किया है।

इसे भी देखें : भगवान बिरसा मुंडा के जन्म दिवस को ‘जन-जातीय गौरव दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा

ये सभी युवा 22 नवंबर को हीं पुणे के लिए रवाना हो गए। ये य़ुवा इंजेक्शन मशीन,मॉडलिंग मशीन और एक्जेक्यूटर चलाने के लिए प्रशिक्षण लिए हैं। खास बात ये भी है कि इन युवाओं को नौकरी लगने के बाद भी तीन माह तक राज्य सरकार 1500 रुपए प्रति माह की दर से सहयोग राशि भी देगी।

नौकरी प्राप्त करने वाले युवाओं में दिखी खुशी

इस मौके पर नियुक्ति पत्र लेनेवाले वाले युवाओं में गजब की खुशी दिखी और उन्होंनें सरकार की योजना और मुख्यमंत्री को विशेष रुप से धन्यबाद कहा। नियुक्ति पत्र लेनेवाले बड़की सरैया के आदित्य कुमार नें बताया कि फसके परिवार की आर्थिक स्थिति सही नही है इस नौकरी से उसके घर की माली हालत ठीक होगी । वो स्नातक की पढ़ाई कर रहा है और आगे भी अब पढ़ाई जारी रख सकता है।

Advertisement

नियुक्ति पत्र प्राप्त करनेवाला बड़की सरैया के हीं अजीत कुमार नें भी कहा कि मुझे पता चला कि नगरपालिका में ऐसी कोई योजना चल रही है इसी क्रम में नगर पंचायत के सिटी मैनेजर मुझसे संपर्क किए और प्रशिक्षण के लिए काउंसेलिंग कराया। अब मुझे पुणे जैसे जगह पर नौकरी मिली है मैं बेहद खुश हूँ।

कार्यक्रम में यह भी रहे मौजूद

कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन निदेशालय की निदेशक विजया जाधव,सहायक निदेशक शैलेश प्रियदर्शी, प्रवीण बी बाचव और बी स्ऋकर ,राज्य मिशन प्रबंधक कुमार बम,स्मार्ट सिटी कॉरपोरेशन के पीआरओ श्री अमित कुमार व कई अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और खबरें देखने के लिए यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। www.avnpost.com पर विस्तार से पढ़ें शिक्षा, राजनीति, धर्म और अन्य ताजा तरीन खबरें

This post has already been read 7359 times!

Related posts