वैचारिक मतभेद प्रकट करना देश की अखंडता को कमजोर करना नहीं: कांग्रेस

अहमदाबाद ।  देश में चुनावी बिगुल बजने के दो दिन बाद मंगलवार को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक हुई, जिसमें देशभर से आए नेताओं ने पार्टी की आगामी रणनीति पर चर्चा की। इस दौरान पार्टी ने प्रस्ताव पारित कर केन्द्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर राष्ट्र नेताओं और सेना के शोर्य को हाईजैक करने का आरोप लगाया। इसके अलावा पार्टी ने कहा कि चुनावों के दौरान वैचारिक मतभेद के आधार पर अपनी बात को रखने को देश की अखंडता को कमजोर करने के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए।
कांग्रेस ने अपने प्रस्ताव में कहा कि वैचारिक मतभेदों का प्रसार और अभिव्यक्ति हमारे राजनीतिक प्रक्रिया का अभिन्न अंग है, खासकर चुनावों के दौरान। इन्हें देश की अखंडता को कमजोर करने के रूप में नहीं माना जाना चाहिए।
कार्यसमिति की बैठक के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि गांधी जी की ऐतिहासिक दांडी मार्च की वर्षगांठ पर अहमदाबाद में कांग्रेस कार्य समिति ने फांसीवाद, घृणा, क्रोध और विभाजन की आरएसएस व भाजपा की विचारधारा को हराने का संकल्प लिया। इस प्रयास में कोई बलिदान बहुत महान नहीं है, कोई प्रयास बहुत कम नहीं है, यह लड़ाई जीत ली जाएगी।
कार्यसमिति की ओर से पारित प्रस्ताव के अनुसार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश के लिए बलिदान देने वाले राष्ट्र नेताओं की विरास्त को हाइजैक करने की कोशिश कर रहे हैं।
कार्यसमिति की बैठक से पूर्व पार्टी नेताओं ने पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के प्रति दो मिनट का मौन रख श्रद्धांजली अर्पित की। पार्टी ने आतंकवाद को देश की एकता एवं अखंडता के लिए खतरा बताया और कहा कि देश इनसे मुकाबला करने के लिए सेना के जवानों के साथ खड़ा है। पार्टी का कहना है कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे राजनीतिक ढंग से भुनाने में लगे हैं ताकि देश का ध्यान उनकी विफलताओं, दावों और लगातार झूठें वक्तव्यों से हट सके।
कार्यसमिति की बैठक से पहले कांग्रेस नेता महात्मा गांधी के अहमदाबाद स्थित गांधी आश्रम भी गए। यहां पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह, संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गांधी आश्रम स्थित शहीद स्मारक में श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद सभी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमदाबाद में सरदार वल्लभाई पटेल राष्ट्रीय स्मारक पहुंचे और सरदार पटेल के प्रति सम्मान व्यक्त किया। इसके बाद स्मारक परिसर में ही कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक शुरू हुई।
उल्लेखनीय है कि कार्यसमिति की बैठक पहले 28 फरवरी को होनी थी जिसे पुलवामा हमले के चलते टाल दिया गया था। कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक 8 मार्च को गुरुद्वारा रकाबगंज स्थित कांग्रेस के वाररूम में होगी। इसमें लोकसभा में पार्टी उम्मीदवारों के चयन पर विचार किया जाएगा। इस बैठक में तय प्रमुख नामों को कार्यसमिति के समक्ष रखा जाएगा जिसकी अध्यक्षता कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी करेंगे। यहां पर नामों पर अंतिम मुहर लगाई जाएगी। संभावना इस बात की है कि कांग्रेस की पहली सूची मार्च के दूसरे सप्ताह में आ सकती है। पिछले महीने राहुल गांधी ने प्रदेश अध्यक्षों और पार्टी महासचिवों से चुनावों तैयारियों के मद्देनजर बैठक की थी।

This post has already been read 8457 times!

Sharing this

Related posts