चिकित्सीय मकसद के लिए मारिजुआना के निर्यात को तैयार है उरुग्वे

न्यूएवा हेल्वेसिया। मारिजुआना के उपयोग को कानूनी रूप से वैध बनाने वाला पहला देश उरुग्वे अब चिकित्सीय मकसद के लिए उसे निर्यात करने वाला पहला लातिन अमेरिकी देश बनने की दिशा में कदम बड़ा रहा है। यह सफर काफी लंबा रहा लेकिन अब न्यूएवा हेल्वेसिया अपनी पहली फसल विदेश भेजने को तैयार है। अमेरिकी कम्पनी ‘फोटमर’ के कर्मचारी पौधों की कटाई कर उसे सूखाने के काम में लगे हैं, जिसके बाद इसे यूरोप, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया भेजा जाएगा। ‘फोटमर’ कम्पनी के पास ही केवल निर्यात करने का लाइसेंस है। इस कदम के साथ ही उरुग्वे ब्रिटेन के प्रभुत्व वाली औषधीय मारिजुआना निर्यातकों की सूची में शामिल हो जाएगा। ‘फोटमर’ के मालिक जोर्डन लूईस ने कहा, “उरुग्वे हमेशा दूरदर्शी रहा है। इसका बाजार बढ़ रहा है।’’ लूईस का मानना है कि उरुग्वे इस दिशा में आगे बढ़ सकता है।

This post has already been read 5043 times!

Sharing this

Related posts