जनता से रायशुमारी के लिए 300 रथों के जरिए 10 करोड़ परिवारों तक पहुंचेगी भाजपा

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी का घोषणा पत्र तैयार करने हेतु आम जनता से रायशुमारी के लिए आज ‘भारत के मन की बात, मोदी के साथ’ अभियान की शुरुआत की। इस अवसर पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और संकल्प पत्र(घोषणा पत्र) समिति के अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने जनता के बीच जाकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और पार्टी की संकल्प पत्र समिति के अध्यक्ष एवं केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को इस अभियान की शुरुआत की।
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अभियान के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि भाजपा 300 रथों के माध्यम से पूरे देश में जनसंपर्क कर लोगों की राय जानने का प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि यह रथयात्रा एक महीने तक चलेगी, जिसके माध्यम से भाजपा आम लोगों से अपने घोषणा पत्र में शामिल किए जाने वाले मुद्दों पर सुझाव लेगी। उन्होंने कहा कि मुख्य रूप से 12 श्रेणी में लोगों के सुझाव मांगे जाएंगे। कोई भी व्यक्ति लिखित, टेलीफोन, फेसबुक, ट्विटर, वेबसाइट, नमो ऐप माध्यम से अपने सुझाव दे सकता है।
शाह ने कहा कि उनकी पार्टी के लिए चुनाव सिर्फ सत्ता प्राप्त करने का साधन नहीं है। भाजपा लोकतंत्र के इस महोत्सव से पहले हर व्यक्ति के पास जाना चाहती है और जनमत के आधार पर जनादेश प्राप्त करना चाहती है जिससे लोकतंत्र मजबूत हो सके। उन्होंने आरोप लगाया कि वर्ष 2014 से पहले की सरकारों की तुष्टिकरण की नीतियों के कारण लोकतंत्र विफल सा हो गया था और समस्याओं का समाधान नहीं किया जा रहा था। किंतु मोदी सरकार के आने के बाद पारदर्शी और दूरदर्शी नीतियों को लागू किया गया और लंबी अवधि के लिए विकास की नींव डाली गई, जिससे संसदीय प्रणाली में लोगों का भरोसा लौटा और दुनिया में भारत को सम्मान की दृष्टि से देखा जाने लगा।
अमित शाह ने कहा कि पिछली सरकार ने देश को 30 साल पीछे कर दिया। 30 साल बाद मोदी की अगुवाई में जनता ने पहली गैरकांग्रेसी सरकार के गठन के लिए पूर्ण बहुमत दिया। उन्होंने कहा कि आम जनता की आकांक्षाओं का ख्याल रखते हुए मोदी सरकार ने 50 करोड़ गरीबों के जीवन को खुशहाल करने का काम किया उनके जीवन मे परिवर्तन लाने का काम किया। 5 साल में महत्वपूर्ण काम किए। अब फिर अगले 5 साल के लिए बहुमत मांगने जा रहे।
शाह ने कहा कि ‘भारत के मन की बात, मोदी के साथ’ अभियान के जरिए भाजपा के 10 करोड़ कार्यकर्ताओं की फौज देश के 10 करोड़ परिवारों तक जाएगी और वह कैसा भारत चाहते हैं उनसे सुझाव लेगी। इस अभियान के तहत 300 रथ देश के अलग-अलग हिस्सों में जाएंगे। 7500 सुझाव पेटियां भी अलग-अलग स्थानों पर रखी जाएगी। इसके साथ ही हर राज्य में 20 लोगो की टीम गठित की गई है, जो राज्य की जरूरतों को ध्यान में रख कर सुझाव देगी। यह प्रयोग केवल चुनाव जीतने के लिए नही लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए है। साथ ही 6357171717 नंबर डायल कर कोई भी व्यक्ति अपना सुझाव दर्ज करा सकता है।

गृह मंत्री व भाजपा संकल्प पत्र समिति के अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कहा कि संकल्प पत्र तैयार करने के लिए इस अभियान की शुरुआत की गई है। किसी भी दल द्वारा संकल्प पत्र तैयार करने के लिए इतना बड़ा अभियान दुनिया के किसी भी देश में नही चलाया गया है। पहली बार कोई दल संकल्प पत्र बनाने के लिए इतने बड़े पैमाने पर जन सम्पर्क कर रहा है। 2014 के बाद सरकार ने हर क्षेत्र में शानदार काम किया। जो जमीन तैयार की उस पर बुलन्द इमारत खड़ा करने का काम करना है। जनता की उम्मीदों को पूरा सम्मान देना भाजपा का दायित्व है।
सिंह ने कहा कि जनता की राय लेने के साथ ही संकल्प पत्र समिति के सदस्य विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों से भी सलाह लेंगे। उसके बाद ही भारत के मन की बात अभियान को संकल्प पत्र में शामिल करेंगे।
राजनाथ ने कहा कि 12 श्रेणियों में सुझाव लिए जाएंगे। इन सभी श्रेणियों के लिए अलग-अलग समंवयक नियुक्त किए गए है। कृषि एवं किसान कल्याण श्रेणी के लिए शिवराज सिंह चौहान, युवा एवं खेलकूद कार्यक्रम के लिए राजीव चंद्रशेखर, महिला सशक्तिकरण के लिए स्मृति ईरानी, समावेशी विकास, दिव्यांग कल्याण के लिए थावरचन्द गहलोत, विज्ञान एवं तकनीकी, सूचना प्रौद्योगिकी के लिए, हर्षवर्धन, पर्यटन के लिए अरुण जेटली, सिंचाई, जल संसाधन के लिए हरदीप सिंह पूरी, सेना व रक्षा मामलों के लिए भूवन सिंह खंडूरी, पड़ोसी देश, महाद्वीप मामलों के लिए विनय सहस्त्रबुद्धे, राम मंदिर, विदेशों में रखी धरोहर के लिए महेश शर्मा को समंवयक नियुक्त किया गया है।

This post has already been read 8402 times!

Sharing this

Related posts