दलित समाज की महिलाओं पर अत्याचार करना पड़ा महंगा, दबंग गया जेल

रामगढ़ । महिला दिवस पर एक दबंग के खिलाफ की गई महिलाओं की शिकायत ऐसी रंग लाई कि संबंधित व्यक्ति जेल पहुंच गया। रामगढ़ जिले के मांडू प्रखंड अंतर्गत मांडू डीह में एक व्यक्ति पर दलित समाज की महिलाओं पर अत्याचार का आरोप था। शुक्रवार को महिलाएं एकजुट होकर महिला थाना रामगढ़ पहुंच गई और थाना प्रभारी राजे कुमारी कुजूर को अपनी व्यथा सुनाई। महिला थाना प्रभारी ने तत्काल दबंग रमेश साव के खिलाफ कार्रवाई करते हुए जेल भिजवाया।
इस संबंध में थाना प्रभारी राजे कुमारी कुजूर ने बताया कि रमेश साव मांडू डीह में जमीन विवाद में फर्जी मामला दर्ज कराने के लिए एक दलित महिला का न सिर्फ उपयोग किया बल्कि उसने दलित समाज की महिलाओं को आवंटित सरकारी जमीन को हथियाने को लेकर उन महिलाओं के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया। रमेश उन महिलाओं के साथ गलत व्यवहार कर रहा था। इस मामले में उसने एक दलित महिला पूनम देवी को भी झांसे में ले लिया था। उससे अपने प्रतिद्वंदी के खिलाफ बलात्कार का झूठा आवेदन थाने में दिलवाया था। जब मामले की जांच की गई तो जिस महिला ने आवेदन दिया था, उसी ने पुलिस को पूरी कहानी बता दी। पुलिस को पता चला कि अपना काम निकलवाने के लिए और पुलिस पर दबाव बनाने के लिए रमेश साव ने गैरकानूनी काम किया था।
उन्होंने तिलेश्वरी देवी के बयान पर रमेश साव के खिलाफ मामला दर्ज करने की बात कही। इस आवेदन में आधा दर्जन से अधिक महिलाओं ने बतौर गवाह अपना हस्ताक्षर किया। रमेश साव पहले भी जेल जा चुका है। उसकी आपराधिक छवि रही है। इसे देखते हुए यह भी शिकायत की गई कि चुनाव के दौरान वह बाहर रहता है तो गांव में शांति भंग होने की भी आशंका है। इस मामले की सूचना महिला थाना प्रभारी ने एसपी द्विवेदी को भी दी है।

This post has already been read 9009 times!

Sharing this

Related posts