वितीय वर्ष में 1812 नए पीएमईजीपी ईकाई स्थापित करने का लक्ष्य

रांची: खादी और ग्रामोद्योग आयोग, भारत सरकार ने झारखण्ड राज्य के बेरोजगार उद्यमियों के लिए वर्ष 2022-23 में कुल 1812 नए पी.एम.ई.जी.पी. ईकाई स्थापित करने का लक्ष्य तय किया है। इसके लिए कुल रकम रु. 57.14 करोड़ आबंटित किया गया है। इस आवंटन के अंतर्गत 14,496 लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने का लक्ष्य प्रतावित है। इस लक्ष्य की पूर्ति हेतु अभी तक तीनो क्रियान्वयन अभिकरण (के.भी.आई.सी. राज्य के.भी.आई.बी. डी.आई.सी.) की ओर से वर्ष 2016-17 से लेकर अब तक कुल 2087 इकाइयां जिसकी मार्जिन राशि रु. 61.58 करोड़ है, के आवेदन विभिन्न बैंको में लंबित हैं। लक्ष्य के विरुद्ध बैंको द्वारा अब तक 283 ईकाइयां का वित्तपोषन किया गया जिसका मार्जिन मनी कुल रु. 8.13 करोड़ सम्बंधित बैंको द्वारा निर्गत किया जा चूका है ।

साथ ही साथ केवल इस वितीय वर्ष में कुल 1607 ईकाइयां जिसकी मार्जिन मानी राशि रु 47.53 करोड़ है, बैंकों में निपटान हेतु लम्बित हैं । यह जानकारी खादी और ग्रामोद्योग आयोग पूर्वी जोन के सदस्य मनोज कुमार सिंह और राज्य आयोग के निदेशक एमएच मेवाती ने बुधवार को आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी। उन्होंने बताया कि वर्ष 2022-23 में एम.एस.एम.ई. (भारत सरकार) द्वारा मौजूदा पी.एम्.ई.जी.पी. ईकाइयां के उन्नयन हेतु निर्माण इकाइयां एवं सेवा ईकाइयां के लिए 24 इकाइयों का लक्ष्य रखा गया है, जिसके लिए कुल मार्जिन मनी रकम रु. 2.34 करोड़ प्रस्तावित है | इस के लिए जिला स्तर पर आवेदन मांगे जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि खादी और ग्रामोद्योग आयोग, राज्य कार्यालय, रांची विगत कई वर्षों से बुनकर पी.एम.ई.जी.पी. कार्यक्रम के लक्ष्य को पूर्ण करता रहा है। इसी तारतम्य में उपरोक्त कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन हेतु खादी और ग्रामोद्योग ने एक जिला स्तरीय प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम जागरुकता शिविर का भी आयोजन किया।
श्री सिंह ने बताया कि वितीय वर्ष 2021-22 के दौरान खादी उत्पादन 20.66 करोड़ और बिक्री 34.04 करोड़ रुपये का किया। इस दौरान कुल 2796 लोगों को रोजगार भी दिया गया। झारखंड में खादी की 34 संस्थाए कार्यरत है। जबकि बिक्री केंद्र 108 है।

This post has already been read 4225 times!

Sharing this

Related posts