रामगढ़ जिले में पहली बार बनेंगे छह सखी बूथ, सुरक्षाकर्मी से लेकर अधिकारी तक होंगी सिर्फ महिलाएं

रामगढ़  ।  रामगढ़ जिले में लोकसभा चुनाव के दौरान एक अनोखी पहल की जा रही है। पहली बार जिले में कुल छह सखी बूथ बनाये जा रहे हैं। इन बूथों पर निर्वाचनप अधिकारी से लेकर पोलिंग पार्टी तक में सिर्फ महिलाएं ही होंगी। इसके साथ ही सुरक्षाकर्मी भी महिलाएं ही होंगी। इस बूथों पर महिलाओं की हर सुविधा का ध्यान रखा जाएगा। यह जानकारी डीसी राजेश्वरी बी ने सोमवार को दी।
उन्होंने बताया कि जिले के सभी छह प्रखंडों में एक-एक बूथ ऐसा बनाया जा रहा है। हालांकि अभी तक बूथ नंबर का खुलासा उन्होंने नहीं किया है। उनका कहना है कि चुनाव में लगी टीम अभी हर प्रखंड में एक ऐसे बूथ की स्क्रूटनी में लगी है, जहां महिला मतदाताओं की संख्या अधिक है। सबसे अधिक महिला वोटर वाला बूथ ही सखी बूथ बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि उस बूथ पर महिलाओं को पेयजल, शौचालय, शेड और बैठने के लिए कुर्सियां तक मिलेंगी। इसके अलावा सुबह आने वाली महिला मतदाताओं को फूल देकर भी प्रोत्साहित किया जाएगा। निर्वाचन आयोग को भी इस बारे में जानकारी दे दी गई है। रामगढ़ जिला प्रशासन ने सखी बूथों को एक चैलेंज के रूप में स्वीकार किया है। जिले में यह पहली बार होगा। ऐसे बूथ को लेकर बेहतर जागरूकता अभियान भी चलाया जाएगा।
रामगढ़ जिले में हैं 2.93 लाख महिला वोटर
रामगढ़ जिले में 2 लाख 93 हजार 495 महिला वोटर हैं। बड़कागांव विधानसभा (पतरातू) क्षेत्र में 75904, रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 1,40,656 और मांडू विधानसभा (मांडू) क्षेत्र में 76,935 वोटर हैं। अब उस बूथ को चयनित किया जाना है, जहां सबसे अधिक महिला वोटर हैं। वहां वीडियोग्राफी की भी व्यवस्था की जानी है।

This post has already been read 6852 times!

Sharing this

Related posts