आरव की जिंदगी बचाने के लिए 25 लाख रुपये की जरूरत, मां लगा रही मदद की गुहार

डाक्टरों ने 40 दिन के अंदर 25 लाख रुपये की व्यवस्था करने को कहा है. 40 में से 12 दिन बीत चुके हैं. 4 माह के आरव के पास मात्र 29 दिन का वक्त है. डाक्टरों ने जल्द लिवर ट्रांसप्लांट कराने को कहा है.

Dhanbad : एक तरफ देश- दुनिया में कोरोना से तबाही मचाई हुई है, वहीं दूसरी तरफ धनबाद के एक माता-पिता अपने चार माह के नवजात की लिवर की बीमारी से परेशान हैं. माता-पिता अपने जिगर के टुकड़े का इलाज कराने में असमर्थ हैं. इसके लिए 25 लाख की जरूरत है. माता-पिता अपने बेटे के लिए सरकारी कार्यालयों से लेकर हर शख्स से मदद की गुहार लगा रहे हैं.

और पढ़ें : गर्लफ्रेंड को डेट पर चलती ट्रेन के कंट्रोल रूम में बुला लिया और फिर जो किया, वो कल्पना से बाहर था…

डाक्टरों ने 40 दिन के अंदर पैसे का जुगाड़ करने के लिए कहा है. 40 में से 12 दिन बीत चुके हैं. आरव की जिंदगी बचाने के लिये महज 29 दिन बचे हुए हैं. डाक्टरों ने उसका लिवर ट्रांसप्लांट कराने को कहा है. इसके लिए दुहातांड बनकाली मंदिर निवासी अजय कुमार साव को 25 लाख रुपये की जरूरत है. लेकिन उनके लिए इतनी बड़ी राशि जुटा पाना संभव नहीं है.

आरव के पिता अजय कुमार शादी में चाट बनाने का काम करते हैं. गरीबी की हालत में इतनी बड़ी राशि जुटा पाना असम्भव हो गया है. अपने पुत्र के इलाज के लिए वह हर आम व खास के पास गुहार लगाते फिर रहे हैं. कुछ समाजसेवियों ने मदद का भरोसा दिलाया है. जिंदगी मांगे आरव मुहिम सोशल मीडिया पर चलाई जा रही है.

ज्यादा ख़बरों के लिए आप हमारे फेसबुक पेज पर भी जा सकते हैं : https://www.facebook.com/avnpostofficial

जिले के उपायुक्त ने आपदा राहत मद से और स्वास्थ्य विभाग से करीब पांच लाख की राशि देने के लिए आदेश दिया है. परिवार को और बीस लाख की जरूरत है. इतनी बड़ी रकम जुटा पाना फिलहाल असंभव सा लग रहा है. अपने बेटे की जान बचाने माता-पिता घूम-घूम कर गुहार लगा रहे हैं. मोबाइल नंबर 9304932939 पर बात कर आप इस परिवार की मदद कर सकते हैं.

This post has already been read 2888 times!

Related posts