शहीदों के नामकोश के 5वें संस्करण का विमोचन किया : प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी: ने गुरुवार को शहीदों के नामकोश के 5वें संस्करण का विमोचन किया। संस्कृति मंत्रालय की ओर से प्रकाशित शहीदों के नामकोश (डिक्शनरी) में आजादी की लड़ाई के दौरान प्राणों की आहूति देने वाले 13,521 शहीदों के नामों का ब्यौरा है। प्रधानमंत्री मोदी ने इस अवसर पर कहा कि इतिहास बनाने में नाकाम रहने वाले इसमें छेड़छाड़ का प्रयास करते हैं।

उन्होंने कहा कि अगर इतिहास को उसके वास्तविक रूप में स्वीकार किया जाता है तो ही यह आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करेगा। उन्होंने कहा कि इसमें जलियांवाला बाग नरसंहार के शहीद, असहयोग आंदोलन, भारत छोड़ो आंदोलन और आजाद हिंद फौज के वे सैनिक शामिल हैं, जिन्होंने कई अन्य लोगों के बीच शहादत पाई। उन्होंने संकलन से जुड़े सभी लोगों और इसके पीछे के प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा कि यह प्रयास न केवल अतीत को संजोने का एक तरीका है, बल्कि भविष्य को सुरक्षित करने का भी एक तरीका है।

उन्होंने कहा कि युवाओं को विशेष रूप से इस प्रयास के बारे में जागरूक किया जाना चाहिए। प्रधान मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार का प्रयास हमारे स्वतंत्रता संग्राम के नायकों के वीरतापूर्ण कार्यों का पोषण और स्मरण करना है। उन्होंने कहा कि यह भविष्य की पीढ़ियों पर सकारात्मक प्रभाव डालता है, और उन्हें “इंडिया फर्स्ट” के बारे में सोचने के लिए प्रेरित करता है।

This post has already been read 10434 times!

Sharing this

Related posts