केजरीवाल ने की सुप्रीम कोर्ट की अवमाननाः भाजपा

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए आज कहा कि अरविंद केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर टिप्पणी कर शीर्ष न्यायालय की अवमानना की है । पार्टी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से अरविंद केजरीवाल की हार हुई है।
भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर प्रेस कांफ्रेंस कर कोर्ट की अवमानना की है। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर वह केजरीवाल के विरूद्ध केस दाखिल करने पर भी विचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल एक वक्त राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ नारे लगाते हुए लोकतंत्र को बचाने की गुजारिश करते थे लेकिन अब उन लोगों के साथ मंच साझा कर रहे हैं, क्या इस तरह से वह लोकतंत्र की रक्षा कर रहे हैं।
पात्रा ने कहा कि केजरीवाल दिल्ली की जनता को सुप्रीम कोर्ट पर हमला करने के लिए उकसा रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि एक तरफ तो केजरीवाल कह रहे हैं कि उन्होंने 4 साल शानदार सरकार चलाई, लेकिन दूसरी तरफ कहते हैं कि केंद्र और कोर्ट उन्हें काम नहीं करने दे रहे हैं।
पात्रा ने कहा कि केजरीवाल को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सुप्रीम कोर्ट से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने आम आदमी पार्टी (आप) नेता व राज्यसभा सांसद संजय सिंह द्वारा किए गए ट्वीट पर भी सवाल खड़े किए।
उल्लेखनीय है कि सरकार बनाम उप राज्यपाल विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को अरविंद केजरीवाल ने संविधान के खिलाफ बताया है। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को 6 मुद्दों पर फैसला सुनाया और अधिकारियों के नियुक्ति और स्थानांतरण के मामले को बड़ी बेंच के पास भेज दिया है । इसके साथ ही कोर्ट ने दिल्ली में एंटी क्राइम ब्रांच और कमीशन ऑफ इन्क्वायरी का अधिकार केंद्र सरकार को दिया है । जबकि, बिजली बोर्ड, जमीन के सर्किल रेट, सरकारी वकील की नियुक्ति का अधिकार दिल्ली सरकार को दिया गया है। केजरीवाल ने कोर्ट के इस फैसले पर प्रेस कांफ्रेंस कर इसे असंवैधानकि बताया है।

This post has already been read 9702 times!

Sharing this

Related posts