जापान ने जबरन नसबंदी के पीड़ितों से मांगी माफी

तोक्यो। जापान सरकार ने उन हजारों लोगों से माफी मांगी है जिनकी ‘युजेनिक्स प्रोटेक्शन’ कानून के तहत जबरन नसबंदी कराई गई थी। सरकार ने पीड़ितों को मुआवजा देने का भी वादा किया है। मुख्य कैबिनेट सचिव योशिहिदे सुगा ने कहा कि वह पीड़ितों से ‘‘दिल से माफी मांगते’’ हैं। जापान की संसद ने बुधवार को एक विधेयक पारित किया जिसके तहत हर पीड़ित को 28, 600 डॉलर मुआवजा मुहैया कराने समेत पीड़ितों की मदद की जाएगी। जापान में 1948 युजेनिक्स सुरक्षा कानून 1996 लागू किया गया था। इस दौरान 25, 000 लोगों की उनकी मर्जी के बिना नसबंदी की गई थी। इस कानून के तहत चिकित्सकों को अक्षम लोगों की नसबंदी करने की अनुमति थी।

This post has already been read 6523 times!

Sharing this

Related posts