इन तीन तरीकों से बिना फॉरमेट किए बढ़ाएं अपने कंप्यूटर की स्पीड

कंप्यूटर या लैपटॉप कुछ दिन पुराने होने के बाद इनकी स्पीड पर असर पड़ने लगता है। काफी समय बाद ये अपने आप हैंग होने लगते हैं। इनकी धीमी गति से छुटकारा पाने के लिए लोग अक्सर इन्हें फॉरमैट कर देते हैं। ऐसे में कई बार जरूरी डाटा भी नष्ट हो जाता है। कुछ सरल उपायों के जरिए बिना फॉरमैट किए भी कंप्यूटर की स्पीड बढ़ाई जा सकती है।

टेंपररी फाइल डिलीट करें
कंप्यूटर में वर्चुअल मेमोरी फुल हो जाने की वजह से धीमे हो जाते हैं। इससे बचने के लिए समय-समय पर टेंपररी फाइल डिलीट करते रहें। इसके लिए प्रोग्राम विकल्प में दिए गए सर्च बॉक्स में:टेम्पः लिखकर एंटर करें। इससे कंप्यूटर या लैपटॉप में मौजूद सभी टेंपररी फाइलें खुल जाएंगी। इन्हें चुनकर डिलीट कर दें

स्टार्टअप प्रोग्राम बंद करें
कई प्रोग्राम ऐसे होते हैं जो कंप्यूटर चालू होते ही अपने आप चलने लगते हैं। इन्हें स्टार्टअप प्रोग्राम कहते हैं। ये कंप्यूटर के धीमा काम करने की सबसे बड़ी वजह होते हैं। स्टार्टअप प्रोग्राम में स्क्रीन न्यूज फीड, जी-टॉक, स्काइप, बिट टोरेंट जैसे प्रोग्राम भी शामिल हैं। इन्हें स्टार्ट मेन्यू में जाकर अनइंस्टॉल किया जा सकता है। इसके अलावा सी ड्राइव को खाली रखें। यह हार्ड डिस्क का वह हिस्सा होता है जिसमें सभी सॉफ्टवेयर रहते हैं।

रिसाइकिल बिन खाली रखें
कंप्यूटर में जो भी फाइल डिलीट करते हैं वह पूरी तरह से डिलीट होने के बजाय रिसाइकल बिन में स्टोर हो जाती है। लगातर कई दिनों तक एक साथ कई फाइलें डिलीट करने से रिसाइकिल बिन भर जाता है और कंप्यूटर की मेमोरी फुल हो जाती है। इससे बचने के लिए समय-समय पर रिसाइकिल बिन खाली करते रहें। अगर आपको कोई फाइल हमेशा के लिए ही डिलीट करनी है तो उसे सिलेक्ट कर शिफ्ट-डिलिट कमांड का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे फाइल रिसाइकिल बिन में नहीं जाएगी बल्कि पूरी तरह कंप्यूटर से डिलीट हो जाएगी।

This post has already been read 8801 times!

Sharing this

Related posts