अगर किसी अन्य दल का दामन थामेगें तो वह भाजपा होगीः स्वर्णकार

गिरिडीह । गिरिडीह जिले के गांडेय विधानसभा इलाके के जुझारू नेताओं में शुमार भारतीय जनता पार्टी  के टिकट पर दो बार गांडेय विधानसभा क्षेत्र से जीते पूर्व विद्यायक लक्ष्मण  स्वर्णकार ने  झारखंड विकास मोर्चा के सभी  पदों सहित प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। 

चर्चा है कि अपने सियासी भविष्य के मद्देनजर स्वर्णकार ने एक बार फिर पाला बदल सकते हैं। इसी साल राज्य विधानसभा के चुनाव होने हैं। सूत्र बताते हैं कि झारखंड में विपक्षी गठबंधन के अगुआ रहे झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी लोकसभा चुनाव की तर्ज पर ही विधानसभा चुनाव लड़ने के पक्षधर हैं। हालांकि लोकसभा चुनाव 2019 में  मरांडी को दूसरी बार लगातार शर्मनाक पराजय का सामना करना। इसके बावजूद विधानसभा का चुनाव भी विपक्षी गठबंधन के बैनरतले ही लड़ने  की जुगत में हैं।  ऐसे में गांडेय सीट झाविमो को मिलेगी, झ्सकी कोई संभावना दूर-दूर तक नहीं है। क्योंकि, पहले से ही कांग्रेस और झामुमो ने इस सीट को लेकर परस्पर दावेदारी कर रखी है। 

स्वर्णकार ने  रविवार को कहा कि झाविमो में उनकी भावनाओं को लगातार नजरअंदाज किया जा रहा था। इसकी शिकायत पार्टी अध्यक्ष से भी की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं होने के कारण झाविमो छोड़नी पड़ी। आगे की सियासी योजना के बारे में स्वर्णकार ने साफ किया कि अगर वे किसी अन्य दल का दामन थामेगें तो सिर्फ भाजपा होगी। वह पुराना घर है।
भाजपा के संस्कारों में पले बढ़े और दो बार विधायक बने। लिहाजा यह तय माना जा रहा है कि स्वर्णकार अपने घर भाजपा में वापसी के लिए बेकरार हैं। सूत्रों की मानें तो इस संबंध में भाजपा का एक खेमा लोकसभा चुनाव से ही उन्हें फिर से भाजपा में लाने के प्रयास में जूटा है।

This post has already been read 7278 times!

Sharing this

Related posts