बिजनेस फॉर्मेट के लिए गोदरेज करेगी 50 करोड़ का निवेश

मुंबई । गोदरेज एंड बॉयस ने उपभोक्ताओं की जरूरतों के आधार पर टिकाऊ वस्तुओं के पोर्टफोलियो को मजबूती प्रदान करने की योजना बनाई है। गोदरेज एंड बॉयस की कार्यकारी निदेशक न्यारिका होलकर ने बुधवार को कंपनी की नई व्यापार नीति की घोषणा की। यू एंड अस ब्रांड के तहत कंपनी की ओर से नई ‘वन गोदरेज’ नीति शुरू की गई है। कंपनी इस नीति के तहत उपभोक्ताओं को घरेलू उपभोक्ता उत्पादों को एक ही जगह पर खरीदने की सुविधा मिलेगी। इस नई नीति को कार्यान्वित करने के लिए अगले तीन साल में कंपनी 50 करोड़ रुपये का निवेश करने जा रही है।
कंपनी के इंटरियो डिवीजन के सीईओ और बिजनेस हेड अनिल माथुर ने बताया कि ‘वन गोदरेज’ की नई रिटेल संकल्पना आधुनिक जीवन शैली वाले उपभोक्ताओं को आकर्षित किया जाएगा। यू एंड अस के तहत विशेषज्ञ इंटीरियर डिजायनर्स और प्रोजेक्ट मैनेजर्स की टीम घरेलू सुविधाओं की संपूर्ण श्रेणी को एकीकृत रूप में पेश कर रही है। वर्ष 2025 तक कंपनी इस सेगमेंट के तहत 50 सेंटर्स के विस्तरित नेटवर्क का संचालन करने का लक्ष्य लेकर आगे बढ़ रही है। भारत में 20 प्रमुख बाजारों में अपना दायरा बढ़ाने की योजना बनाई गई है। वित्तीय वर्ष 2020 तक 7 बाजारों में 7 बड़े ‘वन गोदरेज’ एक्सपीरियन्स सेंटर्स शुरू होंगे। वित्तीय वर्ष 2025 तक कंपनी अपनी आय को 1000 करोड़ रुपयों तक बढ़ाने के लक्ष्य को हासिल कर लेगी। उन्होंने कहा कि भारत में फर्नीचर बाजार ने ऐतिहासिक उछाल हासिल की है। भारत में फर्नीचर क्षेत्र का कुल वित्तीय कारोबार 50,000 करोड़ रुपयों से अधिक होने का अनुमान है। गोदरेज इंटरियो, रिटेल फर्नीचर कंपनी ने पिछले 3 वर्षों में सीएजीआर में 15 फीसदी की वृद्धि हासिल की है, जबकि उद्योग 7-8 फीसदी की दर से बढ़ रहा है।

This post has already been read 9352 times!

Sharing this

Related posts