पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने पर भी नहीं बढ़ी महंगाई, एनबीएफसी पर है नजर : शक्तिकांत दास

नई दिल्ली । आम बजट में पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी और सेसे बढ़ाए जाने के बाद इनकी कीमतों में मामूली बढ़ोत्तरी हुई है। लेकिन, इसका महंगाई पर अभी असर नहीं पड़ा है। यह बात बजट के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्तिकांत दास ने सोमवार को एक प्रेस वार्कांता के दौरान कही। 
आरबीआई गवर्नर ने सोमवार को यहां प्रेस वार्ता में कहा कि  मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी की बैठक अगस्त के पहले हफ्ते में होने जा रही है। इससे पहले हमारी आंतिरक टीम पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों का महंगाई पर पड़ने वाले असर का विश्लेषण करेगी। उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं है कि बढ़ी कीमत का असर दूसरे ही  दिन महंगाई पर दिखने लगेगा। प्रेस कांफ्रेंस में सवालों का जवाब देते हुए रिजर्व बैंक के गवर्नर दास ने कहा कि एनबीएफसी में लिक्विडिटी संकट पर आरबीआई और सरकार दोनों की नजर है। दास ने लिक्विडिटी पर पूछे गए सवाल पर कहा कि हम एनबीएफसी के लिक्विडिटी संकट को जल्द ही सुलझा लेंगे। उन्होंने कहा कि सिस्टम में पर्याप्त मात्रा में नकदी मौजूद है। वहीं, बैंकों के रिकैपिटलाइजेशन को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि यह एक सकारात्मक कदम है और इससे क्रेडिट ग्रोथ में इजाफा होगा। 
रिजर्व बैंक के डिविडेंट को लेकर किए गए सवाल पर आरबीआई गवर्नर ने कहा कि सरकार को कितना डिविडेंड दिया जाएगा, इस पर आम सहमति बन गई है। लेकिन सॉवरेन डेट को लेकर सरकार से चर्चा की जाएगी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि बॉन्ड के जरिए विदेश से कर्ज उठाने पर भी फैसला जल्द ही लिया जाएगा। 
उल्लेखनीय है कि आम बजट में पेट्रोल और डीजल पर एक-एक रुपये स्पेशल अतिरिक्त एक्साइज ड्यूटी और अतिरिक्त सेस लगाने का ऐलान वित्त मंत्री ने किया था। इसके बाद पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 2.45 रुपये और 2.36 रुपये प्रति लीटर बढ़ोत्तरी हुई है। इसके अलावा मध्य प्रदेश और राजस्थान की सरकार ने वैट लगा दिया, जिसकी वजह से पेट्रोल 4 रुपये 62 पैसा और डीजल 4 रुपयये 59 पैसा तक महंगा हो गया।  

This post has already been read 6788 times!

Sharing this

Related posts