“हरिइच्छाबलवान्” मामला उनके समझ में नहीं आया। फिर क्या था, पूछ बैठे प्रभु को:

Thursday Special🍁(((( #हरिइच्छाबलवान् ))))🍁.#एक बार भगवान #विष्णु #गरुड़जी पर सवार होकर कैलाश पर्वत पर जा रहे थे। रास्ते में गरुड़जी ने देखा कि एक ही दरवाजे पर दो बाराते ठहरी थी।.मामला उनके समझ में नहीं आया। फिर क्या था, पूछ बैठे प्रभु को।.गरुड़जी बोले ! प्रभु ये कैसी अनोखी बात है कि विवाह के लिए कन्या एक और दो बारातें आई है। मेरी तो समझ में कुछ नहीं आ रहा है।.प्रभु बोले- हां एक ही कन्या से विवाह के लिए दो अलग अलग जगह से बारातें आई है। एक बारात…

Read More

मलमास 2021: मलमास आज से शुरू, अगले एक महीने तक भूलकर भी न करें ये 7 काम

मीन मलमास 14 मार्च से 13 अप्रैल तक रहेगाइसमें सूर्य का प्रवेश विशेष परिणाम पैदा करता हैसूर्य का किसी राशि में प्रवेश संक्रांति कहलाता है. जब सूर्य मीन राशि में प्रवेश करते हैं तो इसे मीन संक्रांति कहा जाता है. मीन बृहस्पति की जलीय राशि है और इसमें सूर्य का प्रवेश विशेष परिणाम पैदा करता है. बीमारियां और रोग बढ़ते हैं. लोगों के मन में चंचलता आ जाती है. इस समय ज्योतिषीय कारणों से शुभ कार्य वर्जित हो जाते हैं. इसलिए इसे मीन मलमास (खरमास) भी कहते हैं. सूर्य 14…

Read More

हरिद्वार कुंभ में पहला शाही स्नान जारी, 24 लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने किया स्नान

हरिद्वार : धर्मनगरी हरिद्वार में आज महाशिवरात्रि पर्व पर कुंभ का पहला शाही स्नान जारी है। भोर से ही लाखों की संख्या में श्रद्धालु मां गंगा की निर्मल एवं पवित्र धारा में आस्था की डुबकी लगा रहे हैं। मेला प्रशासन ने सुबह 10 बजे तक 24 लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं द्वारा पवित्र गंगा में स्नान करने का दावा किया है।सुबह 9 बजे से हर की पैड़ी को अखाड़ों के साधुओं के स्नान के लिए आरक्षित कर दिया गया है। 12 बजे तक जूना, अग्नि ,आवाहन व किन्नर अखाड़ा के संत…

Read More

आज आपके जीवन में क्या-क्या परिवर्तन हो सकता है, आज आपके सितारे क्या कहते हैं

बुधवार का राशिफलयुगाब्ध-5122, विक्रम संवत 2077, राष्ट्रीय शक संवत-1942सूर्योदय 06.15, सूर्यास्त 06.42, ऋतु – बसंतफाल्गुन कृष्ण पक्ष चतुर्थी/पंचमी, बुधवार, 03 मार्च 2021 का दिन आपके लिए कैसा रहेगा। आज आपके जीवन में क्या-क्या परिवर्तन हो सकता है, आज आपके सितारे क्या कहते हैं, यह जानने के लिए पढ़ें आज का भविष्यफल।मेष राशि :- आज का सामान्य रहेगा। मन को शांत और प्रफुल्लित रखने के लिए ईश्वर का नाम-स्मरण, आध्यात्मिक पठन की प्रवृत्ति ही एकमात्र उपाय है। क्रोध पर नियंत्रण एवं वाणी पर संयम रखें, अन्यथा किसी विवाद में फंस सकते…

Read More

मनुष्य के लिए है यह सबसे बड़ा यज्ञ, मिलता है जीवन का सार

-सुभाष चन्द्र शर्मा- दुनिया में दो विचारधाराओं के लोग हैं। एक वह जो पूंजीवाद को मानते हैं। दूसरे, जो समाजवाद की राह पर चलते हैं। पूंजीवादी धन संग्रह में विश्वास करते हैं और खुद को पूंजी का मालिक मानते हैं, जबकि समाजवादी कहते हैं पूंजी पर सबका हक है। इन दोनों से अलग हमारी संस्कृति, शास्त्र और ऋषि कहते हैं कि यह संपत्ति मेरी नहीं है और न समाज की है। यह तो प्रसाद है और प्रसाद का हमेशा सम्मान होता है। प्रसाद हमेशा बांट कर खाया जाता है, अकेले…

Read More

मन के कारण ही पूरा शरीर कार्य करता है…

मन अत्यंत शक्तिशाली है। यदि सद्विचारों के साथ आगे बढ़ा जाए तो मन के द्वारा जीवन में व्यक्ति को सर्वश्रेष्ठ परिणाम प्राप्त होते हैं। जेम्स एलेन ने एक पुस्तक में कहा भी है कि अच्छे विचार बीजों से सकारात्मक और स्वास्थ्यप्रद फल सामने आते हैं। इसी तरह बुरे विचार बीजों से नकारात्मक और घातक फल आपको वहन करने ही पड़ेंगे। जिस प्रकार व्यक्ति के व्यक्तित्व के दो प्रकार-बाहरी और आंतरिक होते हैं ठीक उसी प्रकार मन के भी चार प्रकार होते हैं। मनोवैज्ञानिकों ने मन की चार प्रवृत्तियां बताई हैं।…

Read More

हर महिला को बोलने चाहिए माँ दुर्गा के ये 4 मंत्र, घर-परिवार में होगी उन्नति

हर महिला की यही कोशिश होती हैं कि उसके घर परिवार में सब कुछ अच्छा चले. माँ दुर्गा इस काम में आपकी मदद अवश्य कर सकती हैं. माता रानी के पास असीम शक्तियों का खजाना होता हैं. ऐसे में यदि आप माँ के समक्ष कुछ ख़ास मंत्रों का जाप करते हैं तो आपके घर की सभी परेशानियाँ समाप्त हो जाती हैं. पहला मंत्र सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके। शरण्ये त्र्यंबके गौरी नारायणि नमोऽस्तुते। इस मंत्रा का उच्चारण आप मंगलवार की सुबह दुर्गा माँ की प्रतिमा के सामने करे. इस दौरान…

Read More

सिद्ध पीठों में प्रमुख है हरिद्वार का मनसा देवी मंदिर

प्रसिद्ध मनसा देवी माता का मंदिर देवभूमि हरिद्वार में हरकी पैड़ी के पास गंगा के किनारे स्थित है। नवरात्रि के दिनों में यहां माता के दर्शनों के लिए लंबी लंबी लाइनें तो लगती ही हैं साथ ही सामान्य दिनों में भी यहां श्रद्धालुओं की काफी अच्छी संख्या रहती है। जिसको देखते हुए मंदिर प्रशासन ने माता के दर्शनों और श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए व्यापक व्यवस्था की है। मंदिर चूंकि पहाड़ी पर स्थित है इसलिए यहां तक पहुंचने के लिए ट्राली का उपयोग किया जाता है। यदि कोई महंगी ट्राली…

Read More

इन पांच लोगों को खिलाएं खाना, रहेगी स्थिर लक्ष्मी

हमारें जीवन में कई उतार चढ़ाव आते है जिससे की लोग बहुत दुखी होते है और कुछ लोग उस समस्या का निजात निकाल कर उससे निकल जाते है। इस दुनिया में बहुत कम लोग है जो अपने जीवन से खुशी है। किसी न किसी को की न कोई समस्या है। अमीर के पास धन होते हुए भी और धन की ललसा और एक गरीब के पास धन न होते हुए सिर्फ पेट की भुख मिटाने तकी ललसा। हम माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए क्या नही करते है। तरह-तरह…

Read More

क्रोध और पानी में समानता है, दोनों हमेशा नीचे की ओर बहते हैं और अपने साथ चीजों को बहाते हैं

कहावत है कि गुस्से की आग पर धैर्य का ठंडा पानी डाल दो। क्रोध और जल का बड़ा गहरा संबंध है। दोनों की तासीर एक जैसी है। दोनों नीचे की ओर बहते हैं। अगर ऊपर उठाना हो तो प्रयास करना पड़ता है। इसीलिए आदमी क्रोध के मामले में यदि विचार करे तो पाएगा कि किसी और व्यक्ति और स्थिति का परिणाम उसने अपने ऊपर ले लिया। थोड़ा-बहुत नुकसान खुद का किया और फिर इसे आगे स्थानांतरित कर दिया। पानी कभी अपने आप ऊपर नहीं चढ़ता, उसके लिए बहुत जोर लगाना…

Read More