गणेश चतुर्थी पर इन पांच खास मंदिरों में जरूर जाए मन्नत होगी पूरी

उज्जैन का चिंतामण गणेश मंदिर मध्यप्रदेश के उज्जैन नगर में बना चिंतामण गणेश मंदिर करीब 1,100 साल पुराना है. कहते हैं कि इस मंदिर में मौजूद गणेश प्रतिमाओं की स्‍थापना भगवान राम, लक्ष्‍मण और देवी सीता ने की थी. इस मंदिर की मौजूदा संरचना होलकर वंश की महारानी अहिल्याबाई ने बनवाई थी. इस मंदिर की भव्‍यता देखने लायक है. जयपुर का मोती डूंगरी गणेश मंदिर राजस्थान की राजधानी जयपुर का मोती डूंगरी गणेश मंदिर भी बेहद मशहूर है. यहां की मूर्ति 500 साल से ज्‍यादा पुरानी है. इसे जयपुर के…

Read More

अपने कर्म के अनुसार पाप और पुण्य के बीच फंस जाता है मनुष्य

भगवान समस्त शरीरों के प्रति सचेत रहते हैं। चूंकि वे प्रत्येक जीव के हृदय में वास करने वाले हैं, अतएव वे जीवविशेष की मानसिक गतिशीलता से परिचित

ईश्वर क्षेत्रज्ञ या चेतन है, जैसा कि जीव भी है, लेकिन जीव केवल अपने शरीर के प्रति सचेत रहता है, जबकि भगवान समस्त शरीरों के प्रति सचेत रहते हैं। चूंकि वे प्रत्येक जीव के हृदय में वास करने वाले हैं, अतएव वे जीवविशेष की मानसिक गतिशीलता से परिचित रहते हैं। परमात्मा प्रत्येक जीव के हृदय में ईश्वर या नियंता के रूप में वास कर रहे हैं और जैसा जीव चाहता है वैसा करने के लिए जीव को निर्देशित करते रहते हैं। जीव भूल जाता है कि उसे क्या करना है।…

Read More