श्री गुरुनानक देव जी के प्रकाश पर्व पर शुक्राने का दीवान सजाया गया

श्री गुरुनानक देव जी के प्रकाश पर्व पर दो दिवसीय आयोजन के सफल समापन के उपलक्ष्य में गुरुद्वारा श्री गुरूनानक सत्संग सभा द्वारा 28 नवंबर, रविवार को दोपहर 3.00 बजे से गुरुद्वारा साहिब,कृष्णा नगर कॉलोनी में शुक्राने का दीवान सजाया गया.

इसे भी देखे : तो इसलिए ऊपर वाले को बताया जाता है प्रकाश के रूप में…


दीवान की शुरुआत दोपहर 3.00 बजे श्री सुखमनी साहिब जी के सामूहिक पाठ से हुई तत्पश्चात स्त्री सत्संग सभा की शीतल मुंजाल द्वारा ” किलविखो नसवंजो करता घर आया…………. ” एवं ” साहिब मेरा एको है एको है भाई एको है………” शबद गायन से हुई.शाम 4.15 बजे से 5 बजे तक गुरुद्वारा साहिब के हजूरी रागी जत्था भाई साहिब भाई महिपाल सिंह जी एवं साथियों ने ” तू सच्चा सांई प्रभ पास जन की अरदास …………..” तथा ” छड सिंहासन हर जी आये……………” तथा ” सा रसना धन धन है मेरी जिंदड़िए……….. ” एवं ” गुरुनानक की वडिआई……….” जैसे कई शबद गायन कर साध संगत को निहाल किया.मनीष मिढ़ा ने कथावाचन कर साध संगत से गुरमत विचार सांझा किए और संगत को रोजाना सुखमनी साहिब जी का पाठ करने का आह्वान किया‌.

शुक्राने का दीवान सजाया गया.

इसे भी देखे : Chandra Grahan 2021 : इस वर्ष का आखिरी चंद्रग्रहण का जनमानस पर कैसा होगा प्रभाव


श्री अनंद साहिब जी के पाठ,गुरुद्वारा के हेड ग्रन्थी ज्ञानी जिवेंदर सिंह जी द्वारा अरदास,हुक्मनामा एवं कढ़ाह प्रशाद वितरण के साथ शाम 6 बजे दीवान की समाप्ति हुई.मंच संचालन मनीष मिढ़ा ने किया.सत्संग सभा के सचिव अर्जुन देव मिढ़ा ने प्रकाश पर्व के सफल समापन के लिए समूह साध संगत का आभार जताया और इसी तरह गुरुघर से की सेवा से जुड़े रहने का आह्वान किया.

इसे भी देखे : Diwali : आखिर क्या है दिवाली त्यौहार मनाने का मूल रहस्य, आइए जाने


सत्संग सभा के मीडिया प्रभारी नरेश पपनेजा ने जानकारी दी कि यह विशेष दीवान 18 एवं 19 नवंबर को मनाए गए श्री गुरुनानक देव जी के पावन 552वें प्रकाश पर्व के सभी आयोजनों के सफल समापन पर वाहेगुरु का शुक्रिया अदा करने के उपलक्ष्य में सजाया गया.

इसे भी देखे : आने वाले 10 सालों तक ये तीन राशियों के लोग रहेगें शनि ढईया से मुक्त.


विशेष दीवान में द्वारका दास मुंजाल,चरणजीत मुंजाल,अशोक गेरा,हरगोविंद सिंह,वेद प्रकाश मिढ़ा,अमरजीत गिरधर,आशु मिढ़ा,नवीन मिढ़ा,सुभाष मिढ़ा,गुलशन मिढ़ा,पवनजीत खत्री,महेंद्र अरोड़ा,जीतू अरोड़ा,रमेश गिरधर,मोहन काठपाल,जीवन मिढ़ा,जितेंद्र मुंजाल,हरीश मिढ़ा,अनूप गिरधर,रमेश पपनेजा,इंदर मिढ़ा,रमेश तेहरी,कमल अरोड़ा,उमेश मुंजाल,चंदन गिरधर,ज्ञान मादनपोतरा,मनीष गिरधर,गीता कटारिया,मंजीत कौर,नीता मिढ़ा,इंदु पपनेजा,रेशमा गिरधर,मीना गिरधर,बिमला मुंजाल,बंसी मल्होत्रा,बीबी प्रीतम कौर,मनोहरी काठपाल,अमर मुंजाल,खुशबू मिढ़ा,रजनी तेहरी,उषा झंडई,गूंज काठपाल, नीतू किंगर समेत अन्य शामिल थे.

This post has already been read 52922 times!

Related posts