Jharkhand : सीमा सुरक्षा बल मोटर साईकिल दल – “जाँबाज” कल दिखाएंगे अपने हैरतअंगेज करतब

Ranchi : भारत सरकार द्वारा आज़ादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के अन्तर्गत सीमा सुरक्षा बल मुख्यालय, नई दिल्ली द्वारां वर्ष 2022 के लिए निर्धारित श्रृंखलाबद्ध कार्यक्रमानुसार सीमा सुरक्षा बल अकादमी टेकनपुर की विश्वविख्यात जाँबाज मोटर साईकिल सवार टीम देश के विभिन्न शहरों में अपने हैरतअंगेज करनामों का प्रदर्शन कर रही है। इसी कड़ी में आगामी 14 अप्रैल 2022, दिन गुरुवार, शाम 4 बजे, नई पुलिस लाईन, प्ले ग्राउंड, कांके रोड, मुख्यमंत्री आवास के सामने, रांची, झारखण्ड में सीमा सुरक्षा बल, जाँबाज टीम मोटर साईकिलों पर हैरतअंगेज करतब दिखएगी। इस कार्यक्रम में रांची शहर के आम-जन और झारखण्ड प्रशासन के गणमान्य व्यक्ति आमंत्रित हैं। सुरक्षा बल, जाँबाज टीम मोटरसाईकिल टीम को अभी तक प्रायः सभी लोगों ने गणतत्र दिवस परेड के दौरान देखा है, लेकिन जनमानस को इस टीम के अदभुत कारनामों और बहादुरी से रूबरू करवाने एवं उनके मध्य देशप्रम की भावना पूरजोर करने के मूल उद्देश्य से रांची शहर में अपनी हैरतअंगेज प्रस्तुतियां देगी।

और पढ़ें : कुणाल हत्याकांड मामले में आरोपित छोटू सिंह ने किया आत्मसर्पण

कार्यक्रम के दौरान जाँबाज टीम के द्वारा इनफील्ड बुलेट मोटरसाइकिल पर पोल राईडिंग, फलैग मार्च, एरो पोजीशन, लैग गार्ड, लैदर विद जम्प, राफेल, बैक राईडिंग पोल, लेयिंग ऑन सीट राईडिंग, महाशक्तिमान, नैक राईडिंग, शीर्ष आसन, चेस्ट जम्प, लैडर ट्रीपल, फिस राईडिंग, 5 मैन बैलेस, पोल इक्सरसाईज, सीटिंग ऑन पोल, रोप राईडिंग, सैल्फी पोजीशन, म्यूजिकल राइड, चेस्ट जंप, फायर जंप, टयूबलाइट जंप आदि करतबों का प्रदर्शन किया जाएगा। इसके अतिरिक्त सीमा सुरक्षा बल मेरू की ब्रास बैंड एवं जॉज बैंड की विशेष परफॉरमेंस भी आयोजित की जाएंगी, साथ ही सीमा सुरक्षा बल में प्रसिद्ध खुखरी डांस भी दर्शकों के समक्ष दिखाया जाएगा। अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन के दम पर सन् 2018 में इन जाँबाजों ने अपना नाम लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्डस में दर्ज करवाया था। इस टीम के प्रदर्शन को देखकर अमरीकी राष्ट्रपति बाराक ओबामा भी अपने को रोक नहीं पाए और जाँबाज मोटर साईकिल टीम के बहादूरी के जाजबे की भरपूर प्रशंसा की थी!

इसे भी देखें : 2 साल बाद देखिए गांवों तथा शहरों में किस तरह मनाई गई रामनवमी

गौरतलब है की सीमा सुरक्षा बल की मोटर साईकिल टीम जाँबाज अपनी स्थापना वर्ष सन् 1990 से ही दर्शकों के कौतूहल का विशेष केन्द्र बनी हुई है। जिसमें जान हथेली पर लिये फिरने वाले एवं अपने हैरत अंगेज कारनामों ने दर्शकों को दांतो तले उंगलियां दबा देने को मजबूर कर देती है। इस टीम के बेहद संतुलित और उत्कृष्ट प्रदर्शन से यह सिद्ध होता है कि सीमाओं के सजग प्रहरी ना सिर्फ सीमाओं की रक्षा में ही पूरे मनोयोग और मुस्तैदी से तत्पर है, अपितु संतुलन और लचीलेपन के नायाब प्रदर्शन में भी माहिर है। इन विशेषताओं के कारण प्रत्येक वर्ष यह टीम गणतंत्र दिवस पर हमेशा राजपथ पर अपनी विशेष प्रस्तुतियां देती है।अपनी प्रतिभा के दम पर दर्शकों के दिलों में रच-बस जाने वाले इन जाँबाजों को टेकनपुर, ग्वालियर स्थित सीमा सुरक्षा बल अकादमी के केन्द्रीय यान्त्रिक परिवहन विद्यालय सी0एस0एम0टी में प्रशिक्षण दिया जाता है।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और खबरें देखने के लिए यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। www.avnpost.com पर विस्तार से पढ़ें शिक्षा, राजनीति, धर्म और अन्य ताजा तरीन खबरें…

This post has already been read 10624 times!

Sharing this

Related posts