संथाल परगना से झामुमो का होगा सूपड़ा साफ : भाजपा


जामताड़ा । भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा है कि संथाल में इस बार भारतीय जनता पार्टी बड़ी जीत की ओर है। यहां से इस बार झारखंड मुक्ति मोर्चा का सूपड़ा साफ हो जाएगा।

शाहदेव बुधवार को जामताड़ा में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि जिस तरीके से पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुबोध कांत सहाय ने मुख्यमंत्री के खिलाफ गट्टा पकड़ने जैसे शब्दों का प्रयोग किया। विवेकहीनता और मर्यादाहीनता की पराकाष्ठा पर पहुंच चुके संकुचित मानसिकता वाले लोग जो कभी सिर्फ किस्मत से ही सही लेकिन गरिमामय पद पर आसीन थे, वे  हार की हताशा में यह भूल चुके हैं कि मर्यादा किसे कहते हैं।

शहदेव ने कहा कि कैसे कोई विवेकहीन व्यक्ति राज्य की जनता द्वारा निर्वाचित माननीय मुख्यमंत्री के संबंध में इस प्रकार के शब्दों का प्रयोग कर सकता है। मुख्यमंत्री पूरे राज्य का मुख्यमंत्री होता है और उनके खिलाफ ऐसी भाषा का प्रयोग कतई बर्दाश्त नहीं है। जनता वोट की चोट से कांग्रेस को जवाब देगी। उन्होंने कहा कि जिस तरीके से झारखंड मुक्ति मोर्चा ने यहां के आदिवासी मूल वासियों को सिर्फ वोट बैंक के रूप में प्रयोग किया, अब जनता इसका जवाब बैलेट के जरिए देगी।

शहदेव ने कहा कि हेमंत और उनकी भाभी सीता सोरेन को हार का मुहं देखना पड़ेगा। संथाल को अपना गढ़ बताकर झामुमो ने वहां की जनता को ठगने का काम किया है। जब तक ये सत्ता में रहे, तब तक जनता को केवल भ्रम में रखा। सोरेन परिवार केवल अपना और अपने परिवार का विकास करता रहा। उन्हेांने सवाल किया कि हेमंत बताएं कि अपने मुख्यमंत्रित्व काल में कितनी बार संथाल गए। हेमन्त को हार का डर सता रहा है। यही वजह है कि हेमंत बरहेट से भी चुनाव लड़ रहे हैं पर उन्हें यह नहीं मालूम कि जनता देवर- भाभी के मंसूबों को जान चुकी है।

शहदेव ने कहा कि सत्ता में रहते हुए सोरेन परिवार ने कभी भी आदिवासियों के हित की बात नहीं सोची। हां, आदिवासियों के लिए लंबी-लंबी बातें की पर उनके जीवन स्तर को ऊपर उठाने का प्रयास भी नहीं किया। केवल आदिवासियों से जमीन कैसे ली जाए, इस पर योजनाएं बनाते रहे। सोरेन परिवार ने आदिवासियों का इस्तेमाल केवल स्वार्थ के लिए किया। महज जमीन खरीदने में व्यस्त रहा और तिजोरियां भरते रहे।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मिशन मोड में संथाल के विकास का बीड़ा उठाया। वह अब तक संथाल की 140 बार से ज्यादा यात्रा कर चुके हैं। संथाल को मेडिकल कॉलेज, एम्स की सौगात मिली। सड़कों का जाल बिछा, सिंचाई की सुविधा बढ़ी, शिक्षा की व्यवस्था में आमूल परिवर्तन आया, आदिम जनजातियों के लिए विशेष योजनाएं शुरू की गईं। संथाल की जनता अब भाजपा के साथ खड़ी है। संथालवासियों का भाजपा के प्रति विश्वास बढ़ा है और यह अंतिम चरण के चुनाव में दिया है। प्रेसवार्ता में प्रदेश मंत्री मुनेश्वर साहू, जिला मीडिया प्रभारी अंगभुति झा, संथाल परगना के मीडिया विभाग के संयोजक  ऋषभ तिवारी भी उपस्थित थे।

This post has already been read 5055 times!

Sharing this

Related posts