आवासन एवं शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा ‘लाभार्थियों से रू-ब-रू’ कार्यक्रम आयोजित

  • वीडियो कान्फेंसिंग के माध्यम से PMAY(U) लाभार्थियों से रू-ब-रू’ हुए MoHUA के निदेशक
  • झारखण्ड के पांच नगर निकायों के पांच लाभार्थी कार्यक्रम में हुए शामिल

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत “गहन आभासी निरीक्षण अभियान” के तहत आवासन एवं शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) द्वारा आज दिनांक 01.11.2021 को वीडियो कान्फेंसिंग के माध्यम से राष्ट्रीय स्तर पर ‘लाभार्थियों से रू-ब-रू’ कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यकम में झारखण्ड राज्य के 5 नगर निकायों के लाभार्थी आधारित आवास निर्माण (BLC) के 5 लाभार्थियों के साथ आवास निर्माण से संबंधित विभिन्न पहलुओं पर विस्तारपूर्वक बातचीत की गई।

इसे भी देखे : नाट्योत्सव का आयोजन राज्य संग्रहालय होटवार राँची के द्वारा

advt.


इस ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन कोविड को ध्यान में रखते हुए किया गया था ताकि लाभार्थियों से रू-ब-रू होते हुए स्वीकृत परियोजनाओं के त्वरित कार्यान्वयन के जमीनी हकीकत पर ध्यान केंद्रित किया जा सके। इस कार्यक्रम में आवासन एवं शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) के निदेशक श्री सुभाष दास एवं श्री आर. के. गौतम के अलावा झारखण्ड के नगरीय प्रशासन निदेशालय (डीएमए) के सहायक निदेशक श्री शैलेश प्रियदर्शी, PMAY(U) कोषांग के राज्यस्तरीय टीम लीडर श्री राजन कुमार समेत कोषांग के विभिन्न पदाधिकारी व संबंधित पांचों नगर निकायों के पदाधिकारी शामिल हुए।

इसे भी देखे : Diwali : आखिर क्या है दिवाली त्यौहार मनाने का मूल रहस्य, आइए जाने

साथ ही झारखण्ड की साहेबगंज जिले के साहेबगंज नगर परिषद की लाभार्थी लागो देवी व बरहरवा नगर पंचायत के लाभार्थी सनातन राम, खूंटी जिले के खूंटी नगर पंचायत की लाभार्थीं रानी देवी, बोकारो जिले के चास नगर निगम की लाभार्थी सुनिता सिन्हा व पूर्वी सिंहभूम जिले के चाकुलिया नगर पंचायत के लाभार्थी सुरेश चंद्र ठाकुर शामिल हुए।

इसे भी देखे : Jharkhand : झारखंड महिला थ्रोबॉल टीम,लीग चरण में अच्छा प्रदर्शन कर,कांस्य पदक विजेता बनी

कार्यक्रम में (MoHUA) के निदेशक श्री सुभाष दास एवं श्री आर. के. गौतम ने योजना के लाभार्थियों से उनसे नए मकान के निर्माण के प्रगति संबंधी विस्तारपूर्वक चर्चा कर पूरी जानकारी ली। साथ ही इस बारे में उनके समक्ष पेश आने वाली समस्याओं को भी गंभीरता से सुना तथा उनका समाधान निकालने संबंधी कुछ सुझाव भी दिए। इस दौरान ज्यादातर लाभार्थियों ने बताया कि उन्हें मकान निर्माण में जो भी समस्याएं पेश आई वह कोरोना से उत्पन्न हालात के मद्दनजर उनकी रोजी-रोटी प्रभावित होने के कारण ही उत्पन्न हुई हैं। इस बारे में सभी के विचार जानने के बाद उन्होंने संबंधित निकाय के पदाधिकारियों से बात कर लाभार्थियों को बेस्ट प्रैक्टिसेज के तहत उन्हें क्रेडिट (उधार) के रूप में निर्माण सामग्री उपलब्ध कराने का सुझाव दिया।

इसे भी देखे : Ranchi : “वैक्सीन लगाएं, त्यौहार मनाएं” : डीसी रांची

advt.

कुछ नगर निकायों की तरफ से बताया गया कि वे इस दिशा में प्रयास भी कर रहे हैं और काफी हद तक इसमें सफल भी हुए हैं। MoHUA के निदेशक ने इस कार्य में प्रगति के ब्यौरे को सूचीबद्ध कर निदेशालय को उलपब्ध कराने का निर्देश दिया ताकि योजना के लक्ष्य को समयबद्ध होकर पूरा किया जा सके। रू-ब-रू कार्यक्रम के दौरान ज्यादातर लाभार्थियों ने दीपावली व छठ पूजा के बाद शेष बचे निर्माण कार्य को शुरू करने व उसे दिसंबर अंत तक पूरा करने के प्रति अपनी सहमति जताई। इसके साथ ही निर्माण कार्य में सहयोग के लिए नगर निकाय के सभी पदाधिकारियों का आभार व्यक्त करते हुए उन्हें दीपावली व छठ की हार्दिक शुभकामनाएं दी।

This post has already been read 28218 times!

Sharing this

Related posts