दो फिल्मों पर कहानी चोरी के आरोप

मुंबई ।  एक जमाने में अधिकांश हिंदी फिल्मों की कहानियां अंग्रेजी या दूसरी भाषाओं की फिल्मों से चोरी करके बनाई जाती थीं। कापी राइट एक्ट की धाराएं कड़ी होने के बाद कहानियों के रीमेकिंग राइट्स खरीदे जाने लगे, लेकिन कहानियों की चोरी के मामले अब भी कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। इन दिनों बालीवुड में दो फिल्मों की कहानियों पर चोरी के आरोप लगे हैं। इनमें से एक मामला आयुष्मान खुराना और भूमि पेडणेकर की जोड़ी वाली फिल्म बाला से जुड़ा है, तो दूसरा मामला टी सीरिज की फिल्म खानदानी शिफाखाना से जुड़ा है। फिल्म बाला को लेकर निर्देशक कमल चंद्रा ने अपनी कहानी की चोरी को लेकर मुंबई हाईकोर्ट में मामला दर्द कराया है। निर्देशक सुधीर मिश्रा के सहायक रहे कमल चंद्रा का कहना है कि उन्होंने डेढ़ साल पहले आयुष्मान को अपनी कहानी विग का आइडिया सुनाया था। उनका आरोप है कि उनकी कहानी पर बाला फिल्म बनाई जा रही है, जिसका निर्माण दिनेश विजन और निर्देशन अमर कौशिक कर रहे हैं, जो इससे पहले फिल्म स्त्री (राजकुमार राव-श्रद्धा कपूर) बना चुके हैं। कमल चंद्रा ने पहले कहानी चोरी के मामले में इन तीनों को नोटिस भेजे और जवाब न मिलने पर अब बांबे हाईकोर्ट में केस दर्ज किया है। दूसरा मामला दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार रहे अमिताभ पराशर का है, जो अब फिल्मकार बन चुके हैं। अमिताभ पराशर की ओर से टी सीरिज की नई फिल्म खानदानी शिफाखाना पर अपनी कहानी की चोरी का आरोप लगाया है। अमिताभ पराशर का कहना है कि पिछले साल उन्होंने टी सीरिज को अपनी कहानी का आइडिया मेल किया था, जिस पर अब खानदानी शिफाखाना नाम से कंपनी फिल्म बनाने जा रही है। इस फिल्म में प्रमुख भूमिकाओं के लिए सोनाक्षी सिन्हा और अनु कपूर को साइन किया गया है। चोरी के आरोपों को लेकर दोनों फिल्मों की ओर से खंडन किए गए हैं। बाला के निर्माता दिनेश विजन का कहना है कि उनकी फिल्म की कहानी बहुत डिफरेंट है। उधर, टी सीरिज की ओर से कहा गया है कि उनकी फिल्म की कहानी का किसी दूसरी कहानी से कोई संबंध नहीं है।

 

This post has already been read 7525 times!

Sharing this

Related posts