एक बेटी पढ़ेगी तो दो परिवार शिक्षित होगा:रघुवर दास

सरायकेला/रांची। झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि इस नन्हीं बच्ची को पढ़ाओ इसे सुकन्या योजना का लाभ दें।बेटी को भी बेटे की तरह बड़ा करो। क्योंकि एक बेटी पढ़ेगी तो दो परिवार शिक्षित होगा। आओ बेटी मेरी गोद में आओ। यह सुनते ही बच्ची भी लपक कर मुख्यमंत्री रघुवर दास की गोद में चली गई और निरीह आंखों से निहारने लगी। तुम पढ़ना और झारखण्ड का मान बढ़ाना। कान्दरबेड़ा दोमुहानी सड़क के किनारे आजीविका के खादय सामग्री बेच रहीं बच्ची की मां व अन्य आदिवासी महिलाएं भौचक बस देखती रह गईं और आजीवन अपनी स्मृति में इस क्षण को सहेज लिया। मौका था जमशेदपुर के गुरूवार को कन्दरबेड़ा दोमुहानी पथ लोकार्पण का। जहां मुख्यमंत्री इन आदिवासी महिलाओं से मुखातिब हो रहे थे।

आदिवासी महिलाएं मुख्यमंत्री के इस आत्मीयता को देख भावविभोर हो गईं। सब ने मुख्यमंत्री का हाथ जोड़ अभिनंदन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप अपनी आजीविका के लिए सड़क किनारे दुकान लगा कर बैठी हैं। यह आपके आर्थिक स्वावलंबन का मार्ग प्रशस्त करेगा। सरकार ने भी आपके स्वावलंबन के लिए योजनाएं लागू की हैं आप सभी उसका लाभ लें। आपको हमें राज्य की शक्ति बनाना है। बात करते करते मुख्यमंत्री महिलाओं के साथ कुछ दूर तक चले भी और बच्ची को गोद में लेकर पुचकारते भी रहे।
साइनेज लगाएं, ताकि पता चले किधर जाना है
लोकार्पण के अवसर पर मुख्यमंत्री ने नेशनल ऑथोरिटी ऑफ इंडिया के अधिकारियों को निदेश दिया कि यहां बड़ा साइनेज लगाएं ताकि वाहन को अपने निर्धारित स्थल जाने की पूर्ण जानकारी राहगीरों को मिल सके।

संथाली साहित्यकार को मिला सम्मान
मुख्यमंत्री ने रांची – टाटा मार्ग से कन्दरबेड़ा दोमुहानी पथ व चौराहे का नाम संथाली साहित्यकार पंडित रघुनाथ मुर्मू चौक रखने का निदेश जिला प्रशासन को दिया। इसकी औपचारिक घोषणा मुख्यमंत्री ने कर दी।

This post has already been read 10191 times!

Sharing this

Related posts