सड़क सुरक्षा-जीवन रक्षा’’ के थीम पर चलेंगी 30वीं सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान

गुमला: 30वीं सड़क सुरक्षा 2019 के अंतर्गत लोगों में सड़क सुरक्षा से संबंधित जानकारी देने एवं लोगों में जागरूकता लाने के लिए जिला में कई जागरूकता कार्यक्रम आयोजित की जाएगी। 30वीं सड़क सुरक्षा की थीम होगी -’’सड़क सुरक्षा-जीवन रक्षा’’। 30वीं सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान 04 फरवरी से 09 फरवरी तक चलेगी जिसमें विभिन्न विभागों द्वारा स्कूलों, मार्गों व अन्य स्थलों पर कार्यक्रम आयोजित की जाएगी। उक्त बाते उपायुक्त शशि रंजन ने अपने कार्यालय कक्ष में 30वीं सड़क सुरक्षा अभियान से संबंधित आयोजित तैयारी बैठक में बताई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त शशि रंजन ने 30वीं सड़क सुरक्षा अभियान जिला के सभी राष्ट्रीय राजमार्ग सहित सभी मार्गों के टूट-फूटी जगहों पर मरम्मति कराने का निर्देश संबंधित विभागों के पदाधिकारियों को दिया। खासकर उपायुक्त ने पाॅलिटेक्निक काॅलेज, पेट्रोल पम्प, सिसई-राँची रोड का मरम्मति का कार्य जल्द से जल्द पूरा कर लेने को कहा। उन्होंने सभी प्रमुख मार्गों में आपातकालीन स्वास्थ्य सेवा नम्बर 108 का साईनेज लगाने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने  पुलिस को निरंतर वाहन जाँच करने एवं चैक-चैराहों में विशेष ध्यान देने को कहा। उन्होंने बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं को देखते हुए प्रत्येक दिन जाँच करने एवं दोषियों का चालान काटकर जुर्माना वसूलने का भी निर्देश दिया। ’’सड़क सुरक्षा-जीवन रक्षा’’ की थीम पर चलने वाली 30वीं सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान 04 फरवरी से प्रारंभ होगी जो 09 फरवरी तक चलेंगी। जागरूकता अभियान की शुभारंभ उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक अश्विनी कुमार सिन्हा द्वारा संयुक्त रूप से जन सम्पर्क विभाग की एलईडी वैन को हरी झण्डी दिखाने के साथ होगी। जो जिला के सभी प्रखण्डों में इस दौरान सड़क सुरक्षा से संबंधित विडियों क्लिप का डिस्प्ले कर लोगों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करने का कार्य करेगी। साथ ही नगर भवन गुमला में जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं जिला शिक्षा अधीक्षक के द्वारा स्कूली बच्चों की रैली निकाली जाएगी। सड़क सुरक्षा से संबंधित सभी पेट्रोल पम्पों में फ्लैक्स लगाना व नो हेलमेट नो पेट्रोल कैम्पेन चलाया जाएगा। पुलिस विभाग द्वारा वाहन चालकों के बीच फूल वितरण कर लोगों को सड़क सुरक्षा-जीवन रक्षा के बारे में जागरूक किया जाएगा। इसके अलावे पथों पर सड़क सुरक्षा से संबंधित कार्यक्रम गठित कर सड़क सुरक्षा से संबंधित जानकारी लोगों को दी जाएगी। 05 व 06 फरवरी को दुर्घटना संभावित क्षेत्रों में सड़क सुरक्षा टीम निरीक्षण एवं दुर्घटना से बचाव हेतु विभिन्न कार्य करायी जाएगी। इस दौरान स्ट्रीट लाईट को ठीक कराना, विभिन्न पेट्रोल पम्पों में नो हेलमेट नो फ्यूल का अनुपालन कराना, गुड सेमेरिटन गाईडलाईन संबंधित फ्लैक्स प्राईमरी हेल्थ सेंटरों में तथा अन्य सार्वजनिक स्थलों पर लगाने का कार्य कराया जाएगा। 07 फरवरी को विभिन्न सड़कों के किनारे झाड़ झंखाड़ को उखाड़ना, नशापान कर वाहन चलाने पर होने वाली हानियों के बारे में चालकों को बताने का कार्य किया जाएगा। 08 फरवरी को संयुक्त रूप से जिले के ब्लैक स्पाॅट का निरीक्षण करना एवं लघुकालीन उपाय करने सभी शोरूम आॅनर बस/ट्रक/ आॅनर एशोसिएशन पेट्रोल पम्पों के द्वारा व्यवसायिक वाहनों में रिफ्लेटिव टेप लगाने, चालकों को सड़क सुरक्षा-जीवन रक्षा के बारे में जागरूक करना, विभिन्न हाट बाजारों में नशापान करने वाले चालकों पर अंकुश लगाने, नशे का सेवन कर वाहन चलाने अथवा गति सीमा से अधिक स्पीड मंे वाहन चलाने आदि पर नियंत्रण हेतु सघन जाँच अभियान चलाई जाएगी। 09 फरवरी को स्कूल/काॅलेजों एवं सार्वजनिक जगहों पर गति नियंत्रक संकेतक लगाने, सड़क सुरक्षा संबंधी जानकारी देना व अन्य कार्य किया जाएगा। 30वीं सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान के दौरान विद्यालयों में बच्चों को सड़क सुरक्षा से संबंधित जानकारी देने के साथ ही सड़क सुरक्षा से संबंधित बच्चों के बीच पेंटिंग, डिबेट, निबंध व क्विज प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएगी। आयोजित प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर विजेता छात्र-छात्राओं को प्रोत्साहन स्वरूप परुस्कार वितरण कर सम्मानित किया जाएगा। बैठक में मुख्य रूप से उपायुक्त, अपर समाहर्ता आलोक शिकारी कच्छप, सिविल सर्जन सुखदेव भगत, जिला परिवहन पदाधिकारी जमाले रजा, सदर पुलिस उपाधीक्षक विकास कुमार पाण्डेय, जिला शिक्षा पदाधिकारी सुरेन्द्र पाण्डेय, जिला शिक्षा अधीक्षक जय गोबिन्द सिंह, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी पंचाणन उराँव मौजूद थे।

This post has already been read 7869 times!

Sharing this

Related posts