विजयवाड़ा में सिमटी हैं बहुत सी किंवदंतियां

आंध्र प्रदेश में बहने वाली भारत की विख्यात नदी कृष्णा और इसकी सहायक बुडमेरू नदी के बीच के क्षेत्र में विजयवाड़ा शहर कई किंवदंतियों को अपने में समेटे हुए है। यह सामाजिक, राजनीतिक और शैक्षणिक चिंतन का केंद्र भी माना जाता है। यहां के लोग तेलुगू भाषा बोलते हैं। यहां के दर्शनीय स्थलों की बात करें तो सबसे पहला नाम गांधी हिल का आता है। इस पहाड़ी के शिखर पर 15.8 ऊंचा गांधी स्तूप खड़ा है जो विजयवाड़ा का सबसे ऊंचा स्थल है। इसे 1968 में बनाया गया था। अन्य…

Read More

कसौली ये वादियां ये फिजाएं

कसौली यानी हिमाचल प्रदेश का ऐसा हिल स्टेशन, जो अपनी खुशनुमा आबोहवा के लिए दुनिया भर में लोकप्रिय है। प्रसिद्ध हिल स्टेशन शिमला से भी अधिक ऊंचाई (3,647 मीटर) पर स्थित कसौली शिमला वाली भीड़ से तो दूर है ही, पल-पल में बदलने वाली यहां की हवा इसे और खास बना देती है। यहां देखते-देखते हवा बदलने लगती है और बादलों का समूह पलभर में ही धूप के नीचे छाकर बरस पड़ता है। दूसरे ही पल मौसम साफ और चारों तरफ से तन-मन को रोमांचित करने वाली खुशनुमा हवा छूने…

Read More

झीलों का शहर नैनीताल

नैनीताल को पी. बेरून नामक व्यक्ति द्वारा वर्ष 1841 में स्थापित किया गया था। पी. बेरून पहला यूरोपियन था। नैनीताल अंग्रेजों का ग्रीष्मकालीन मुख्यालय था। 1847 में नैनीताल मशहूर हिल स्टेशन बना, अंग्रेज इसे समर कैपिटल भी कहते थे। तब से लेकर आज तक यह अपना आकर्षण बरकरार रखे हुए है। अंग्रेजों के जमाने में नैनीताल शिक्षा का भी बड़ा केंद्र बनकर उभरा। अपने बच्चों को बेहतर माहौल में पढ़ाने के लिए अंग्रेजों को यह जगह काफ़ी पसंद आई थी। उन्होंने अपने मनोरंजन के लिए भी व्यापक इंतजाम किए थे।…

Read More

प्राचीन गुफाओं का स्थल भीमबेटका

भारत में पहाड़ी गुफाओं का संबंध आदि काल से है। यह कभी ऋषि-मुनियों के लिए यज्ञ स्थली रहे तो कभी राजाओं और सुल्तानों की सेना के लिए एक पड़ाव। गुफाओं के अंदर चित्रित की गई उत्कृष्ट चित्रण व शिल्पकारी हमें भारत के इतिहास से संपर्क साधने का मौका देती हैं। इन गुफाओं का रहस्यमयी होना हमेशा से शोधकर्ताओं के लिए एक शोध का विषय रहा है। आज भी लोग इन गुफाओं के बारे में जानने के लिए लालायित रहते हैं। ऐसी ही एक जगह है भीमबेटका जो अपने गुफाओं के…

Read More

धरती पर धड़कते एक सपने की तरह है लोटस टेम्पल

शताब्दियों से पर्यटन की राजधानी रही दिल्ली में यूं तो बहुत सी सुन्दर इमारतें हैं जिनमें शाहजहां द्वारा निर्मित अनेक स्थान है, पर इन दिनों सबसे सुन्दर इमारतों में लोटस टेम्पल (कमलाकृति वाला मन्दिर) अपने आप में एक अलग ही अप्रतिम सौन्दर्य लिये हुए है। हालांकि इसका उल्लेख राजधानी के अधिकृत नक्शे में नहीं है किन्तु दिल्ली दर्शन कराने वाली तमाम बसें इस स्थान पर आये बिना नहीं रहती हैं। कुतुब मीनार, लाल किला, बिडला मन्दिर, राजघाट जैसे अनेक पर्यटन स्थलों को संजोये रखने वाली दिल्ली का एक खास आकर्षण…

Read More

कश्मीर से कम नहीं है केरल की खूबसूरती

केरल हरियाली के मामलों में उत्तर पूर्वी राज्यों से भी एक कदम आगे निकल चुका है। यहां हरियाली के साथ−साथ सागर के नीले जल के सौंदर्य को भी निहारा जा सकता है जो उत्तर पूर्वी राज्यों में उपलब्ध नहीं है। केरल के सौंदर्य का वास्तविक आनंद लेने के लिए वहां की यात्रा रेल अथवा बस से ही करनी चाहिए। हरे नारियल के बगीचों के बीच से निकलती हुई बस जब किसी नदी या नाले को पार करती है तो देखने पर ऐसा लगता है कि जैसे किसी चित्रकार ने हरे…

Read More

प्रकृति का मनमोहक उपहार हैं नेपाल

नेपाल की खूबसूरत फिजाओं का हर नजारा दिल को छू लेने वाला है। हमारा यह पडोसी देश भौगोलिक व सांस्कृतिक लिहाज से भारत से काफी साझीदारी रखता है। पिछला लम्बा अरसा वहां राजनीतिक उठापटक का रहा है। लेकिन अब अमन की नई उम्मीदों के बीच एवरेस्ट की इस धरती का सौंदर्य मानो सबको फिर से अपनी ओर बुला रहा है। हिमालय की गोद में बसा छोटा देश नेपाल। पूरी दुनिया में खूबसूरती व प्राकृतिक सौंदर्य में अग्रणी स्थान रखता है। सैर-सपाटे के लिये सैलानियों की यह प्रमुख पसंद है। खूबसूरत…

Read More

अद्भुत यात्रा का अनुभव है कन्याकुमारी

भारतीय प्रायद्वीप के दक्षिणी क्षेत्र में स्थित पवित्र स्थान कन्याकुमारी के बारे में कहा जाता है कि स्वामी विवेकानंद जब ज्ञान की खोज में निकले थे तो यहीं पहुंच कर उन्हें ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। यहां अरब सागर और बंगाल की खाड़ी हिंद महासागर में आकर मिलते हैं। इसलिए यहां तीन अलग-अलग रंगों की रेत देखने को मिलती है। शहर की भीड़ से दूर तथा तनाव व शोरगुल से भी दूर यह स्थान बड़ा शांतिमय है। यहां यदि शोर है तो वह है सिर्फ समुद्री लहरों का, जोकि कानों…

Read More

समुद्र की निराली जीव सृष्टि है मैरीन नेशनल पार्क

अरब सागर की गोद में प्रवाल (मूंगा) द्वीपों का एक विस्तृत दयार है अंडमान निकोबार। छोटे बडे आकार के इन द्वीप समूहों का प्राकृतिक सौन्दर्य, प्रदूषण मुक्त निर्मल समीर, नारियल के वृक्षों से आच्छादित जमीन, साफ-सुथरे समुद्री तट, मूंगे की चट्टानों से घिरी नीली झीलें और उनमें तैरती असंख्य प्रजातियों की रंगबिरंगी मछलियां सुन्दरता में चार चांद लगा देती हैं। इसी नैसर्गिक वातावरण के बीच स्थित अंडमान का सुप्रसिद्ध मैरीन नेशनल पार्क देश-विदेश के सैलानियों को अपनी ओर खींच लेता है। समुद्र के जल में जो जीव सृष्टि है वह…

Read More

करसोग घाटी में आनंद भोग

-संतोष उत्सुक- हरे नीले भूरे मटमैले, बर्फ ओढे पहाडी स्थलों में गजब आकर्षण है कि आवारगी के मतवाले हर मौसम में वहां पहुंचे रहते हैं। कुछ दिन-रात यहां बिता, नया उत्साह व चेहरों पर रौनक बटोरकर लौट, फिर से जुट जाते हैं पुरानी व्यस्त दिनचर्या में, जहां से वे आते हैं। यह विकास की माया है कि चंद गिने-चुने पर्यटक स्थलों पर हर बरस भीड जमा होती है मगर अनेक दिलकश जगहें बिना पर्यटकों के उदास रहती हैं क्योंकि वहां विकास की माया नहीं है। आमतौर पर पर्यटकों को कुल्लू,…

Read More