ऑर्गैज्मिक मेडिटेशन से बॉडी में जबर्दस्त होती है अनुभूति…

मेडिटेशन महिलाओं के लिए खास आध्यात्मिक अभ्यास

लंदन। ताजा अध्ययन में दावा किया गया है कि ऑर्गेज्मिक मेडिटेशन से ब्रेन फंक्शन में जबर्दस्त बदलाव आता है। मेडिटेशन से ब्रेन फंक्शन के खास पैटर्न में ऐसा बदलाव आता है जिससे पूरी बॉडी में जबर्दस्त अनुभूति का अनुभव होता है। ऑर्गैज्मिक मेडिटेशन महिलाओं के लिए है। यह एक खास तरह का आध्यात्मिक अभ्यास है जिसमें महिलाओं के क्लाइटोरिस को उद्दीपित किया जाता है।

और पढ़ें : तूफानी रफ्तार से धरती के पास से गुजरेगा 984 फुट लंबा ऐस्टरॉइड…

खबर के मुताबिक अध्ययन में पाया गया कि ऑर्गेज्मिक मेडिटेशन के दौरान महिलाओं के दिमाग के उस हिस्से में बहुत ज्यादा परिवर्तन होता है जिस हिस्से का संबंध यौन उद्दीपन से है। यानी ऑर्गेज्मिक मेडिटेशन के दौरान दिमाग के जिस हिस्से में यौन संतुष्टि का अभास होता है, वह हिस्सा बेहद क्रियाशील हो जाता है। इस बदलाव के कारण शरीर का तंत्रिका तंत्र ऑटोमेटिक रूप से सक्रिय हो जाता है और पूरे शरीर और मन पर जबर्दस्त प्रभाव छोड़ता है। गहन ध्यान के दौरान शरीर को जो आंतरिक संतुष्टि मिलती है, वही संतुष्टि ऑर्गेज्मिक मेडिटेशन से मिलती है।

Advertisement

अध्ययन में शामिल जिन प्रतिभागियों ने ऑर्गेज्मिक मेडिटेशन में हिस्सा लिया उन्हें अपने अंदर संबंद्धता की एक असीम अनुभूति प्राप्त हुई। इसके अलावा उन्होंने परम आध्यात्मिक सुख का अनुभव किया। इस अध्ययन में 20 जोड़ों को शामिल किया गया था जिनका ऑर्गेज्मिक मेडिटेशन के दौरान एमआरआई किया गया। एमआरआई के आधार पर यह निष्कर्ष निकाला गया कि इस मेडिटेशन से महिलाओं को मन और मस्तिष्क में असीम आनंद की अनुभूति होती है। ऑर्गेज्मिक मेडिटेशन को पश्चिम में ओम मेडिटेशन भी कहा जाता है। यह 15 मिनट का एक अभ्यास है जिसमें पुरुष प्रतिभागी महिला प्रतिभागी के क्लाइटोरिस को उद्दीपित करता है। ऑर्गैज्मिक मेडिटेशन स्पर्श और आनंद का एक अभ्यास है। आमतौर पर यह महिलाओं के लिए है। इस अभ्यास के माध्यम से महिला को चरम सुख का आनंद और असीम आध्यात्मिक सुख प्रदान किया जाता है।

इसे भी देखें : देखिये कैसे पांच साल के बच्चे ने की स्कूल खोलने की अपील

इस प्रकार के मेडिटेशन में 15 मिनट तक महिला के जननांगों को बिल्कुल आराम से उद्दीपित किया जाता है और फिर उसके ऊपर स्ट्रोक दिया जाता है। इससे महिला को यौन का चरम सुख, मानसिक सुख, शारीरिक सुख और आध्यात्मिक सुख दिया जाता है। बता दें ‎कि बॉडी में सब कुछ सही है, लेकिन दिमाग सही से काम नहीं करता, तो इंसान परेशान होने लगता है। इसलिए ब्रेन का फंक्शन सही तरीके से होना जरूरी है। कई तरह की एक्सरसाइज हैं जिनसे ब्रेन का फंक्शन सही किया जा सकता है।

This post has already been read 27229 times!

Sharing this

Related posts