जलशक्ति अभियान में सीएम ने किया श्रमदान

रांची : पानी जीवन के लिए जरूरी है. पानी की जरूरत आज सभी कार्य के लिए है. सभी को पानी चाहिये लेकिन इसके संचयन के लिए बहुत कम लोग पहल करते हैं. हम इसका प्रबंधन नहीं होता है, जिससे बरसात का जल व्यर्थ बह जाता है. जल के संचयन की दिशा में सरकार ने पहल करते हुए प्रधानमंत्री के दिशा निर्देश में पूरे राज्य में जिला और पंचायत स्तर पर श्रमदान कार्यक्रम का आयोजन कर जल संचयन कार्यक्रम का शुभारंभ कर रही है. आपके जमुआरी गांव से भी इस अभियान का शुभारंभ हुआ है, अब आप भी एक कदम चलें सरकार चार कदम चलेगी. ये बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आयोजित जलशक्ति अभियान के तहत टीसीबी योजना का निर्माण एवं श्रमदान कार्यक्रम में कही.

गांव वाले योजना बनाकर जल का करें संचयन

मुख्यमंत्री ने कहा कि गर्मी में गांव और शहर में पानी की समस्या से लोग जूझते हैं. अगर बरसात का पानी संचयन करें तो भूगर्भ जल में वृद्धि होगी. ऐसा करने से हमें धीरे धीरे जल संकट से मुक्ति मिलेगी. राज्य सरकार ग्राम विकास समिति को 5 लाख रुपये दे रही है. ग्रामीण योजना बनाकर वर्षा जल को रोकने हेतु निर्माण कार्य कर सकते हैं. इस कार्य में किसी अधिकारी का हस्तक्षेप नहीं होगा. आपका गांव आपकी योजना की तर्ज पर कार्य होगा.

सरकार दे रही अनुदान, आप लगाएं पौधा

मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव में खेती की जमीन पर मेढ़ की चौड़ाई अधिक देखी जाती. इस पर काष्ठ पेड़ लगा कर हम अपनी आमदनी का जरिया बना सकते हैं. मुख्यमंत्री जन वन योजना के माध्यम से सरकार इस कार्य के लिए 80% अनुदान प्रदान कर रही है. लोगों को इस योजना का लाभ लेना चाहिए.

छोटे कार्य से पहल करें, जल संचयन जरूरी

मुख्यसचिव डीके तिवारी ने कहा कि राज्य में होने वाली बारिश का मात्र 6% जल का संचयन हो पाता है, जबकि 94% जल बह कर कहीं और चला जाता है. इस बात की गंभीरता पर सभी को विचार करना चाहिए. हम सभी अगर छोटे कार्य से पहल करें तो जल संचयन कर जल की जरूरत को पूरा किया जा सकता है. मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर जिला प्रशासन रांची द्वारा पर्यावरण महत्व से सम्बंधित स्थानीय भाषा की पुस्तक का विमोचन किया.
सीएम के साथ इन्होंने किया श्रमदान

कार्यक्रम के बाद तेज बारिश के बीच मुख्यमंत्री रघुवर दास, विधायक जीतू चरण राम, मुख्यसचिव डॉ डीके तिवारी, अपर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, पुलिस महानिदेशक कमल नयन चौबे, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ सुनील कुमार वर्णवाल, प्रधान सचिव ग्रामीण विकास विभाग अविनाश कुमार, प्रधान सचिव राजस्व, निबंधन एवं भूमि सुधार केके सोन, उपायुक्त रांची राय महिमापत रे, वरीय पुलिस अधीक्षक अनीश गुप्ता और बड़ी संख्या में गांव वालों ने कुदाल चलाकर श्रमदान किया.

This post has already been read 7816 times!

Sharing this

Related posts