उदित राज कांग्रेस में शामिल होकर बोले भाजपा को दलित चेहरा चाहिए नेता नहीं

नई दिल्ली। दिल्ली की उत्तर-पश्चिमी सीट से सांसद उदित राज बुधवार को कांग्रेस में शामिल हो गए। वह इस सीट से भाजपा द्वारा उनका टिकट काटे जाने से नाराज थे। दिल्ली में कांग्रेस की सदस्यता लेते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा केवल दलित चेहरा चाहती है असल में उसे किसी दलित नेता की जरूरत नहीं है । 
उदित राज ने पार्टी महासचिव संगठन केसी वेणुगोपाल और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। इससे पहले वह पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से मिले थे। 
उदित राज ने दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय में प्रेसवार्ता कर कहा कि भाजपा अगर उन्हें उत्तर-पश्चिमी दिल्ली से टिकट देती तो वह जरूर चुनाव लड़ते। हालांकि भाजपा ने उन्हें टिकट नहीं दिया। वह टिकट के प्रबल दावेदार थे और वह जरूर जीतते। यह बात भाजपा के आंतरिक सर्वे में भी सामने आई थी। उन्हें टिकट न देकर साबित हो गया है कि भाजपा एक दलित विरोधी पार्टी है। 
उदित राज ने कहा कि उन्हें टिकट न दिये जाने का सबसे बड़ा कारण था कि वह दलितों पर अत्याचार के खिलाफ बने कानून को कमजोर किए जाने के खिलाफ मुखर आवाज उठा रहे थे और इससे जुड़े सरकार विरोधी आंदोलन का भी समर्थन कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भाजपा को केवल ‘गूंगा-बहरा’ दलित नेता चाहिए था जो वह नहीं हैं।
उदित राज ने उदाहरण देते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि पार्टी में खामोश रहने वाले दलित नेताओं को उच्च पदों पर भी बिठा दिया जाता है। ऐसा ही उन्होंने कोविंद के साथ भी किया। 2014 में भाजपा ने कोविंद को इस लायक भी नहीं समझा था कि उन्हें कहीं से टिकट दे देते । बाद में पार्टी ने उन्हें राष्ट्रपति बना दिया गया। 
कांग्रेस की प्रशंसा करते हुए उदित ने कहा कि कांग्रेस ने दलितों के हितों में कई काम किए हैं। वहीं भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस की दलितों के लिए लाई गई योजनाओं को भी जारी नहीं रख पाई है। उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस में रहकर दलितों के हित की लड़ाई लड़ेंगे और पूरा प्रयास करेंगे कि भाजपा की दिल्ली में जमानत तक जब्त हो जाए। 
कांग्रेस महासचिव वेणुगोपाल ने कहा कि भाजपा में दलितों की कोई परवाह नहीं है और उनके आने के बाद उन्हें लगता है कि अन्य दलित नेता भी कांग्रेस में आयेंगे। 
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित ने कहा कि उदित राज की सोच कांग्रेस से मिलती रही है। उनके पार्टी में आने से दिल्ली में कांग्रेस की स्थिति और अधिक मजबूत होगी। 

This post has already been read 6442 times!

Sharing this

Related posts