एकल अभियान के माध्यम से पूरे देश में एक लाख से अधिक गांव में एक शिक्षक विद्यालय चल रहा है

वन बंधु परिषद के पूर्वी भारत की क्षेत्रीय बैठक रांची में झारखंड चैंबर सभागार में आहूत हुई जिसमे पटना, भुवनेश्वर, धनबाद, जमशेदपुर, झारसुगड़ा, कोलकाता, पटना, रायपुर, राउरकेला, सिलीगुड़ी और रांची के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

बैठक में बताया गया कि आज के दिन एकल अभियान के माध्यम से पूरे देश में एक लाख से अधिक गांव में एक शिक्षक विद्यालय चल रहा है।
इन सभी गांवों में कैसे शिक्षा के स्तर को बेहतर बनाया जाए, वहा रोजगार और स्वावलंबन कैसे बढ़ाया जाए, आरोग्य से संबंधित जानकारियां कैसे प्रचारित प्रसारित किया जाय, संस्कार और देश प्रेम को कैसे घर घर पहुंचाए इत्यादि विषयो पर चर्चा हुई।

राष्ट्रीय अध्यक्ष रमेश सरावगी ने ऑनलाइन संबोधन में कहा कि संस्था के उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए ज्यादा से ज्यादा महिलाओं और युवाओं को जोड़ने की आवश्यकता है। बैठक में उपस्थित राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि शहर में जो भी समर्थ ग्राम वासी है उन्हे नगर इकाई अपने साथ जोड़े।

बैठक में ज्यादा से ज्यादा ग्रामों को एकल अभियान से जोड़ने से संबंधित, नगर वासियों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में विद्यालय दर्शन और ग्राम दर्शन कराने से संबंधित, अभियान को आगे बढ़ाने के लिए धन संग्रह करने से संबंधित, बड़ी कंपनियों को सामाजिक दायित्व के तहत एकल अभियान से जोड़ने से संबंधित, ग्राम वासियों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध बनाने के लिए उनके साथ त्यौहार मानने और खेल आयोजित करने से संबंधित, रोजगार उपलब्ध कराने की योजनाओं के बारे में, ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों के बीच प्रतिभा को पहचानने हेतु प्रतियोगिताओं के आयोजन करवाने एवं प्रतिभावान बच्चों को नगर वासियों द्वारा उच्च शिक्षा हेतु गोद लिए जाने से संबंधित, स्कूल एवं कॉलेज के बच्चों को ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर सेवा देने की योजना इत्यादि अनेक विषयों पर गहरा विचार मंथन हुआ।

बैठक में पूर्वी क्षेत्र की अध्यक्षा शांता सारदा एवं सचिव रेखा जैन ने भुवनेश्वर, धनबाद, जमशेदपुर, झाड़सुगुड़ा, कोलकाता, पटना, रायपुर, राउरकेला, सिलीगुड़ी एवं रांची चैप्टर के कार्यक्रम की समीक्षा की और उन्हें भविष्य की बेहतरी हेतु दिशा निर्देश भी दिया।
अतिथियों का स्वागत रांची चैप्टर के अध्यक्ष रमेश धारणधरका ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन कार्य अध्यक्ष प्रदीप जैन द्वारा दिया गया।

This post has already been read 4582 times!

Sharing this

Related posts