हैदराबाद गैंगरेप के तीन और आरोपित पकड़े गए, भाजपा ने की सीबीआई जांच की मांग

हैदराबाद। हैदराबाद जुबली हिल्स थाना क्षेत्र अंतर्गत पब से अपहरण कर नाबालिग के साथ सामूहिक बलात्कार किए जाने के मामले में पुलिस ने शनिवार को तीन आरोपितों को पड़ोसी राज्य कर्नाटक से पकड़ा है। आरोपित उमर खान के साथ अन्य दो नाबालिगों को पकड़ने की आधिकारिक पुष्टि कुछ देर पहले हुई।

इससे पहले बीती रात एक अन्य आरोपित सदुद्दीन मलिक की गिरफ्तारी हुई थी। पुलिस ने दावा किया है कि अब इस मामले में शामिल पांचों आरोपितों को पुलिस ने पकड़ लिया है। हालांकि इनमें तीन नाबालिग हैं। बीती रात पुलिस एक नाबालिग को पकड़ने के लिए गई थी लेकिन रात में सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देश आड़े आने के कारण उसे गिरफ्तार नहीं किया गया।

और पढ़ें : भाजपा ने मांडर विस क्षेत्र से गंगोत्री कुजूर को बनाया उम्मीदवार

पुलिस उपायुक्त जोएल के डेविस ने इस घटना की जानकारी देते हुए एक आधिकारिक बयान में कहा है कि यह घटना 28 मई को शाम के समय हुई। घटना के तीन दिन बाद 31 मई को पीड़िता के पिता ने उनसे मुलाकात की। उनके कहने पर पीड़िता के पिता ने जुबली हिल्स पुलिस थाने में जाकर शिकायत की। पुलिस ने पहले आईपीसी की धारा 354 के तहत मामला दर्ज किया था। बाद में पीड़िता के बयान के आधार पर आईपीसी की धारा 376, 323 के और पोक्सो एक्ट की धारा 5 व 6 के तहत मामला दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि घटना के बाद पांचों आरोपित पीड़िता को इनोवा कार में पब के पास छोड़कर फरार हो गए। पीड़िता के बयान के आधार पर पुलिस ने पब और घटनास्थल के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के अलावा सीडीआर का विश्लेषण किया और बारीकी से जांच-पड़ताल की है।

डेविस के अनुसार पीड़िता ने केवल एक आरोपित का ही नाम बताया था, अन्य आरोपितों से वह परिचित नहीं थी। घटना के चार-पांच दिन बीत जाने के कारण पीड़िता घटनाक्रम को ठीक से बता नहीं पा रही थी। पीड़िता के स्वस्थ होने के बाद पुनः उसका बयान लेकर मामले में शामिल अन्य आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की गई। घटना के बाद सभी आरोपित अलग-अलग दिशा में फरार हो गए थे, जिसके कारण उन्हें तलाशने में कुछ देरी हुई।

इस घटना में गृह मंत्री मो. महमूद अली के पौत्र और बहादुरपुरा के मजलिस पार्टी के विधायक के पुत्र के शामिल होने के बारे में सवाल करने पर डीसीपी ने कहा कि फिलहाल पुलिस को अबतक इस तरह के कोई ठोस सबूत नहीं मिले हैं। केवल उन पर आरोप लगाए जा रहे हैं। उन्होंने सीधे तौर पर इस मामले में गृह मंत्री के पौत्र के शामिल होने से साफ इनकार कर दिया, जबकि एक अन्य जनप्रतिनिधि के पुत्र के शामिल होने की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि पुलिस इस मामले की तकनीकी रूप से छानबीन कर आरोपितों के खिलाफ ठोस तकनीकी सबूत जुटा रही है।

उन्होंने कहा कि घटना कहां पर हुई, इसका वह खुलासा नहीं कर सकते हैं लेकिन घटना के लिए उपयोग में लाई गई कार को जब्त कर लिया गया है। हालांकि उन्होंने कार के मालिक का खुलासा नहीं किया। उन्होंने बताया कि इस घटना की जांच-पड़ताल एसीपी स्तर के अधिकारी को सौंपी गई है। हर दृष्टिकोण से घटना की गहन जांच-पड़ताल की जा रही है। पीड़िता के गले पर खरोंच के निशान होने के कारण आईपीसी की धारा 323 के तहत मामला दर्ज किया गया।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रदेश अध्यक्ष व सांसद बंडी संजय ने मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव से पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की। संजय ने नाबालिग के साथ हुए सामूहिक बलात्कार की घटना को लेकर पुलिस पर लापरवाही बरतने व आरोपितों को बचाने का प्रयास करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि राज्य के गृह मंत्री के पौत्र, वक्फ बोर्ड के चेयरमैन के पुत्र, मजलिस विधायक के पुत्र का नाम आरोपितों के रूप में बताया जा रहा है, ऐसे में सरकार के इशारे पर ही आरोपितों के प्रति पुलिस लापरवाही बरत रही है। नेताओं के भी शामिल होने के आरोप लग रहे हैं, इसलिए सीएमओ से पुलिस को मिले मौखिक आदेश के मुताबिक ही मामला दर्ज करने में लापरवाही बरती गई है।

इसे भी देखें : जानें पूजा सिंघल का यंगेस्ट आईएएस से होटवार जेल तक का सफर

बंडी संजय ने कहा कि मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की असमर्थता के कारण ही राज्य में कानून – व्यवस्था बिगड़ रही है। अपराधियों के हौसले बुलंद हो गए हैं। हैदराबाद अपराधियों का अड्डा बन गया है । आपराधिक घटनाओं को लेकर हैदराबाद देशभर में चर्चा का विषय बन गया है। उन्होंने कहा कि पूरे मामले को गोपनीय रखा जा रहा है जबकि घटना पर हर जगह चर्चा हो रही है। हैदराबाद अब महिलाओं और बालिकाओं के लिए सुरक्षित नहीं रहा बल्कि अपराधियों के लिए सुरक्षित जोन बन गया है। संजय ने तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि मजलिस पार्टी के साथ दोस्ती के चलते राज्य सरकार द्वारा हर प्रकार की छूट मजलिस के गुंडों को दी गई है। उन्होंने कहा कि वे इस मामले से केंद्र को भी अवगत कराएंगे और पीड़िता को न्याय मिलने तक उनका आंदोलन जारी रहेगा।

उधर, भाजपा विधायक रघुनंदन राव ने पुलिस के बयान को खारिज करते हुए सीसीटीवी फुटेज पेश किया है, जिसमें चलती इनोवा कार में लड़की के साथ बलात्कार किया गया है। इस फुटेज में एक मुख्य नेता के पुत्र का चेहरा साफ दिखाई दे रहा है। रघुनंदन के कहा कि सोमवार को भाजपा इस मामले को लेकर तेलंगाना उच्च न्यायालय में याचिका दायर करेगी।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और खबरें देखने के लिए यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। www.avnpost.com पर विस्तार से पढ़ें शिक्षा, राजनीति, धर्म और अन्य ताजा तरीन खबरें…

This post has already been read 21607 times!

Sharing this

Related posts