सूडान में लोकतंत्र के समर्थन में हजारों लोग सड़क पर उतरे, प्रदर्शन के दौरान सात लोगों की मौत

खारतूम। सूडान में रविवार को सरकार विरोधी प्रदर्शन के दौरान मारे गए लोगों की संख्या सात हो गए है और कम से कम 181 अन्य घायल हुए हैं। स्थानीय मीडिया ने स्वास्थ्य मंत्रालय के हवाले से यह जानकारी दी है। अल-अरबिया ब्रोडकास्टर ने रविवार को बताया कि सैन्य सत्ता के विरोध में हजारों की संख्या में सड़कों पर उतरे रैपिड सपोर्ट फोर्स के जवानों और आम नागरिकों पर सेना के जवानों ने गोलीबारी कर दी। आम नागरिक सत्ता के शांतिपूर्ण हस्तांतरण की मांग कर रहे हैं। इसके पहले सेंट्रल कमेटी ऑफ सूडान डॉक्टर्स (सीसीएसडी) ने फेसबुक पर लिखा, “ओमदुरमन शहर में 30 जून को प्रदर्शन के दौरान चार नागरिकों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर पांच हो गयी है।” सीसीएसडी के अनुसार कई लोग गंभीर रूप से घायल लोगों का शहर के अस्पतलों में इलाज चल रहा है। सूडान की संक्रमणकालीन सैन्य परिषद इस घटना के लिए विपक्षी बलों और प्रदर्शनकारियों को जिम्मेदार ठहराया है। रिपोर्ट के अनुसार विपक्ष ने हजारों की संख्या में रविवार को खार्तूम और ओम्दुर्रमान शहरों में मार्च का आह्वान किया था। पिछले छह महीनों से जारी सूडान की जनता की लड़ाई अब एक नये मुकाम पर पहुंच गयी है। इस लड़ाई के फलस्वरूप 30 वर्षों से शासन कर रहे अल-बशीर को सत्ताच्युत कर दिया गया है। उनकी तानाशाही खत्म हो गयी है। लेकिन उसका स्थान संक्रमणकालीन सैन्य परिषद ने ले लिया है। यह परिषद उसी पुरानी राज मशीनरी को बरकरार रखे हुए है।

This post has already been read 4533 times!

Sharing this

Related posts