दुनिया दो ध्रुवों में बंटी है, वहीं भारत दृढ़ता से मानवता की बात कर रहा है : प्रधानमंत्री

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के 42वें स्थापना दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को कहा कि जब पूरी दुनिया दो ध्रुवों में बंटी है, तब भारत को ऐसे देश के रूप में देखा जा रहा है, जो पूरी दृढ़ता के साथ मानवता की बात कर सकता है।

प्रधानमंत्री मोदी वर्चुअल माध्यम से भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुये अपनी बात रख रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा, “आज दुनिया के सामने एक ऐसा भारत है, जो बिना किसी डर या दबाव के अपने हितों के लिए अडिग रहता है। जब पूरी दुनिया दो विरोधी ध्रुवों में बंटी हो, तब भारत को ऐसे देश के रूप में देखा जा रहा है, जो दृढ़ता के साथ मानवता की बात कर सकता है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार राष्ट्रीय हितों को सर्वोपरि रखते हुए काम कर रही है। आज देश के पास नीतियां भी हैं, नियत भी है। आज देश के पास निर्णयशक्ति भी है, और निश्चयशक्ति भी है। इसलिए, आज हम लक्ष्य तय कर रहे हैं, उन्हें पूरा भी कर रहे हैं।

और पढ़ें : झारखंड के 24 जिले कोरोना मुक्त, सक्रिय मरीज 17

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि देश में सालों तक वोट बैंक की राजनीति की जाती रही है, जिसकी नीति ‘कुछ लोगों को ही वायदे करो, ज्यादातर को तरसाकर रखो’ की थी। इस वोट बैंक की राजनीति के चलते देश में भ्रष्टाचार और भेदभाव पनपा और विकसित हुआ। भारतीय जनता पार्टी इस वोट बैंक की राजनीति को टक्कर देकर देशवासियों को उसके नुकसान को समझाने में सफल रही है।

पिछले दिनों चार राज्यों के विधानसभा चुनावों में पार्टी को मिली जीत का उल्लेख करते हुये प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की वैचारिक निष्ठा अंत्योदय में है। दलित, पिछड़े, गरीब, युवा और अब महिलायें भी आगे आकर भाजपा को विजय तिलक लगा रही हैं। ऐसा इसलिए हुआ, क्योंकि महिलाओं को नए अधिकार मिले हैं। उनमें सुरक्षा की भावना विकसित हुई है। रसोई घर से लेकर बाहर तक उनकी जिंदगी बदल गई है। आर्थिक निर्णय लेने में भी महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है और वे भारत के भविष्य को दिशा दे रही हैं।

मोदी ने कहा, “इस बार का भाजपा स्थापना दिवस तीन वजहों से महत्वपूर्ण हो गया है।” अपने संबोधन में तीनों वजहों की चर्चा करते हुये नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पहला कारण है कि इस समय हम देश की आजादी का अमृत-महोत्सव मना रहे हैं। यह प्रेरणा का बहुत बड़ा अवसर है। दूसरा कारण है कि तेजी से बदलती हुई वैश्विक परिस्थितियां हैं। इसमें भारत के लिए लगातार नई संभावनाएं बन रही हैं।

वहीं तीसरा कारण बताते हुये प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ सप्ताह पहले चार राज्यों में भाजपा की डबल इंजन की सरकारें वापस लौटी हैं। तीन दशकों के बाद राज्यसभा में किसी पार्टी के सदस्यों की संख्या 100 तक पहुंची है।

आगे प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसी स्थिति में वैश्विक और राष्ट्रीय दृष्टिकोण से भाजपा का दायित्व, भाजपा के प्रत्येक कार्यकर्ता का दायित्व लगातार बढ़ रहा है। इसलिए भाजपा का प्रत्येक कार्यकर्ता देश के सपनों का प्रतिनिधि है। देश के संकल्पों का प्रतिनिधि है।

विपक्ष की राजनीतिक शैली पर हमला करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में दो तरह की राजनीति मौजूद है। एक है ‘परिवार भक्ति’और दूसरी ‘राष्ट्र भक्ति’। भाजपा के लिए राजनीति और राष्ट्रनीति में कोई अंतर नहीं है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ करने वाली ये पार्टियां, संविधान और संवैधानिक व्यवस्थाओं को भी कुछ नहीं समझतीं।

उन्होंने कहा कि ऐसी पार्टियों से आज भी हमारे कार्यकर्ता अन्याय, अत्याचार और हिंसा के खिलाफ लोकतांत्रिक मूल्यों के साथ लड़ रहे हैं। परिवारवादी पार्टियों ने देश के युवाओं को भी कभी आगे नहीं बढ़ने दिया, उनके साथ हमेशा विश्वासघात किया है। आज हमें गर्व होना चाहिए कि भाजपा इकलौती पार्टी है जो इस चुनौती से देश को सजग कर रही है, सतर्क कर रही है।

इस दौरान प्रधानमंत्री ने जनकल्याण की योजनाओं को शत-प्रतिशत लाभार्थियों तक पहुंचाने के अपने संकल्प को पार्टी कार्यकर्ताओं के सामने दोहराया। उन्होंने कहा कि इस अभियान का मकसद भेदभाव की सारी गुंजाइश को खत्म करना, तुष्टिकरण की आशंकाओं को समाप्त करना, स्वार्थ के आधार पर लाभ पहुंचाने की प्रवृत्ति को खत्म करना और समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक सरकारी लाभ पहुंचाना है।

भाजपा के 42वें स्थापना दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि मैं देश और दुनिया भर में फैले भाजपा के प्रत्येक सदस्य को बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं। कश्मीर से कन्याकुमारी, कच्छ से कोहिमा तक भाजपा ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ के संकल्प को निरंतर सशक्त कर रही है। उन्होंने कहा कि मेरी प्रार्थना है कि मां स्कंदमाता का आशीर्वाद देशवासियों पर, भाजपा के प्रत्येक कर्मठ कार्यकर्ता और प्रत्येक सदस्य पर हमेशा बना रहे।

इसे भी देखें : आज मिलिये युवा दिलों पर राज करने वाले फैशन कोरिओग्राफर से

उल्लेखनीय है कि अपने स्थापना दिवस पर भाजपा 7 अप्रैल से 20 अप्रैल तक देश भर में सामाजिक न्याय के मुद्दे पर कार्यक्रम आयोजित करने जा रही है। इस दौरान पार्टी के कार्यकर्ता नरेन्द्र मोदी सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं के बारे में ब्लॉक और जिला स्तर पर जागरूकता अभियान चलाने जा रहे हैं। वहीं 14 अप्रैल को बीआर अंबेडकर जयंती के उपलक्ष्य में कई कार्यक्रम आयोजित करने जा रही है। भारतीय जनता पार्टी की स्थापना 6 अप्रैल, 1980 को की गई थी।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और खबरें देखने के लिए यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। www.avnpost.com पर विस्तार से पढ़ें शिक्षा, राजनीति, धर्म और अन्य ताजा तरीन खबरें…

This post has already been read 9347 times!

Sharing this

Related posts