किम जोंग-नाम की हत्या की दूसरी आरोपी जेल में ही रहेगी

कुआलालंपुर। मलेशिया ने गुरुवार को उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन के सौतेले भाई की हत्या की आरोपी दो महिलाओं में से एक को आरोपमुक्त करने के कुछ दिनों बाद दूसरी आरोपी महिला पर से हत्या का आरोप रद्द करने की अपील को खारिज कर दिया है। ‘सीएनएन’ की रिपोर्ट के अनुसार, इस फैसले का मतलब है कि वियतनाम की दोआन थी हुआंग अभी भी एकमात्र संदिग्ध के रूप में सलाखों के पीछे रहेंगी। हुओंग फरवरी 2017 में किम जोंग-नाम की हत्या के आरोप में गिरफ्तार दो महिलाओं में से एक हैं। इस मामले की एक अन्य आरोपी इंडोनेशियाई महिला सिती आइस्याह को सोमवार को एक आश्चर्यजनक फैसले में आरोपमुक्त कर दिया गया था। वहीं, अभियोजकों ने इस दौरान यह खुलासा नहीं किया कि उन्होंने हुआंग की अपील को खारिज कर दिया लेकिन आइस्याह को क्यों मुक्त कर दिया। हुआंग की कानूनी टीम ने अभियोजकों को यह तर्क दिया कि मामले की सह-आरोपियों में से एक को मुक्त करना, लेकिन दूसरी को नहीं अनुचित होगा। वहीं, हुआंग ने एक इंटरप्रिटर (दुभाषिया) के माध्यम से मीडिया को बताया कि उनके मन में इस बात को लेकर कोई कड़वाहट नहीं है कि आइस्याह की मुक्त कर दिया गया लेकिन उन्हें नहीं किया गया। उन्होंने कहा, “ईश्वर जानता है कि मैंने और आइस्याह ने कुछ नहीं किया।”

This post has already been read 7437 times!

Sharing this

Related posts