गरीबी दूर करना हमारी प्राथमिकता : अजय कुमार

रांची। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार ने कहा कि गरीबी दूर करना हमारी प्राथिमकता है। इसलिए “गरीबी पर वार, बहत्तर हजार” -ये कांग्रेस पार्टी की पहली गारंटी है कि हिन्दुस्तान के 20 प्रतिशत सबसे गरीब परिवारों को हर महीने उनके बैंक अकाउंट में कांग्रेस की सरकार डायरेक्ट पैसा डालेगी। उन्होंने कहा कि एक साल में 72 हजार, पांच साल में तीन लाख 60 हजार। इससे दो काम होंगे, पहला गरीबों की जेब में पैसा जायेगा, दूसरा किसानों की जेब में डायरेक्ट पैसा जाएगा। अजय कुमार रविवार को कांग्रेस भवन में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस न्याय योजना को लागू करने के लिए पिछले एक वर्षों से लगातार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी योजना बना रहे थे। इसमें हमने पूरे देश के गरीब लोगों को शामिल करने का प्रयास किया है। हमने सर्वे में पाया कि पूरे झारखंड में नौ लाख 70 हजार परिवार न्याय योजना के हकदार होंगे। अर्थात 58 लाख 20 हजार लोगों को इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि इन सभी परिवारों को राहुल गांधी ने पत्र लिखकर न्याय योजना की जानकारी दी है। इससे सबसे अधिक लाभ आदिवासी, दलित अल्पसंख्यक को उसके बाद पिछड़े वर्ग के लोगों को एवं सामान्य वर्ग के लोगों को भी इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि झारखंड में 582 करोड़ रूपये प्रतिमाह आयेंगे और एक वर्ष में 6984 करोड़ रूपये आयेंगे, तो उससे यहां के सिर्फ लाभुक परिवारों को ही फायदा नहीं होगा बल्कि झारखंड में व्यवसाय करने वाले, रिक्शा चलाने वाले, ठेला चलाने वाले, पंचर बनाने वाले, साईकिल, मोटरसाईकिल बनाने वाले लोगों की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। सच पूछीए तो पूरे झारखंड की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी और सर्वांगीण विकास होगा। उन्होंने कहा कि सत्ता पक्ष के लोग न्याय योजना पर सवाल उठा रहे हैं तो उन्हें पता होना चाहिए कि हम चुनाव वोट पाने के लिए जुमले नहीं फेकते हैं हम योजना के साथ-साथ उसको लागू करने के संदर्भ में भी पूरे देश से जानकारी इकटठा करने के बाद उसे अपनी मेनिफेस्टो (वचन पत्र) में शामिल करते हैं, जो लोग इस योजना पर सवाल उठा रहे हैं उन्हें पता होना चाहिए कि हमने मनरेगा जैसे योजनाओं को सफल तरीके से लागू करने का काम किया है। प्रेसवार्ता में कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद, एम तौसीफ, कुमार राजा, आभा सिन्हा मौजूद थीं। 

This post has already been read 6041 times!

Sharing this

Related posts