क्षेत्र के विकास के लिए गठन किया गया है क्षेत्रीय विकास प्रधिकार : सीपी सिंह

रांची । राज्य के नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने गुरूवार को विधानसभा में कहा कि क्षेत्रीय विकास प्राधिकार का गठन विकास के लिए किया गया है। महाधिवक्ता से राय लेकर ही इसका गठन हुआ है। उन्होंने कहा कि इसका गठन करने का एक ही उद्देश्य है कि उस क्षेत्र का विकास हो सके, जहां नगर निगम नहीं है। कई सदसस्यों का कहना है कि शहरी में आने वाले कई इलाकों में बुनियादी सुविधाएं नहीं हैं। ऐसे में सरकार का दायित्व बनता है कि उक्त एरिया का विकास करें। इसी उद्देश्य से क्षेत्रीय विकास प्राधिकार का गठन किया गया है। सीपी सिंह सदन में झामुमो के दीपक बिरूवा के ध्यानाकर्षण का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य के कई ऐसे क्षेत्र हैं, जो अनुसूचित जनजाति बाहुल हैं। सरकार संविधान सम्मत कार्रवाई कर रही है। हम जमीन लेकर विकास नहीं करें, ऐसा नहीं होगा। रांची नगर निगम का गठन 1978 में हुआ था। आज विकास का फैलाव हो रहा है। सड़क, नाली, नक्शा पास करने का काम हो रहा है। अगर रांची नगर निगम होल्डिंग टैक्स ले रहा है, तो विकास भी करेगा।
समाज कल्याण मंत्री लुईस मरांडी ने भाजपा की विमला प्रधान के ध्यानाकर्षण के जवाब में कहा कि झारखंड के जनजातीय समाज के लोग जो दूसरे राज्यों में रह रहे हैं। उन्हें वहां अनुसूचित जनजाति का दर्जा नहीं मिल पाया है। इसमें कई तरह की समस्या है। नागरिकता प्राप्त नहीं होने के कारण सरकारी सुविधा से वंचित हैं। यह चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि जनजातीय परामर्श परिषद (टीएसी) की बैठक में यह विषय उठा था। यह भारत सरकार से होना है। उन्होंने कहा कि प्रधान सचिव के माध्यम से भारत सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है। इसे एक बार फिर से दिखवा लेती हूं। इस पर विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव ने कहा कि 1983-84 में अंडमान निकोबार गया था। यहां के लोगों को वहां रांची वाले के नाम से जाना जाता है। बहुत से लोगों को वहां पर जमीन दी गयी है। तीन से पांच एकड़ जमीन पर लोग खेती करते हैं। मंत्री लुईस मरांडी ने कहा कि सारे विषय सामने हैं। इसे गंभीरता से लिया गया है। विमला प्रधान ने ध्यानाकर्षण के माध्यम से अंडमान निकोबार में पुलिस द्वारा आदिवासियों को प्रताड़ित करने की ओर सरकार का ध्यान आकृष्ट किया था। उन्होंने कहा कि उनकी स्थिति दयनीय है। सिमडेगा, खूंटी, गुमला, लोहरदगा सहित अन्य जिलों के लोग वहां पर निवास करते हैं। रामकुमार पाहन के ध्यानाकर्षण के जवाब में कला, संस्कृति और पर्यटन मंत्री अमर बाउरी ने कहा कि राजाउलातू गांव में चालू वित्तीय वर्ष में ही मेला से संबंधित काम शुरू करा दिया जायेगा। राम कुमार पाहन ने कहा कि नामकुम के राजाउलातू गांव में सावन मेला लगता है। यहां पर कुछ काम कराने की जरूरत है।
भाजपा की मेनका सरदार के एक अन्य ध्यानाकर्षण के जवाब में नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि सरकार शहीदों का सम्मान करती है। शहीदों को सम्मान देने के लिए बिरसा मुंडा स्मृति पार्क का निर्माण का काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि झारखंड के सभी शहीदों को सम्मान दिया जायेगा।

This post has already been read 6707 times!

Sharing this

Related posts