रामगढ़ थाना प्रभारी और मुंशी के रवैया से परेशान शिक्षक आमरण अनशन पर बैठे

रामगढ़ ।  एक शिक्षक के साथ मारपीट हुई, लेकिन उन्हें न्याय नहीं मिला। न्याय के लिए शिक्षक गुरुवार सुबह 4:00 बजे से ही रामगढ़ के सुभाष चौक पर आमरण अनशन पर बैठ गये। यह शिक्षक कोई और नहीं रामगढ़ जिले में एएसआई के पद पर तैनात कृष्ण नंदन प्रसाद सिंह के पुत्र भविष्य कुमार सिंह हैं। उन्होंने सीधे तौर पर रामगढ़ थाना प्रभारी लिलेश्वर महतो और मुंशी राजेश ओझा पर मनमानी करने और धमकी देने का आरोप लगाया है। भविष्य ने कहा कि थाना प्रभारी और मुंशी हमारे मामले को दबाना चाह रहे हैं और लगातार दबाव बना रहे हैं।
भविष्य ने कहा कि मैंने नई सराय, मरार स्थित मॉडल पब्लिक स्कूल में बतौर शिक्षक कई महीने तक काम किया। जनवरी के बकाए मानदेय को लेकर स्कूल के संचालक दिलीप कुमार सिंह ने 7 फरवरी को मेरे साथ मारपीट कर दी। इस मामले की शिकायत मैंने रामगढ़ थाने में की, लेकिन मामला दर्ज नहीं किया गया। इस मुद्दे को लेकर थाना ने मुझ पर समझौता करने का दबाव बनाया, लेकिन समझौता पत्र भी उपलब्ध नहीं कराया गया। अब जब थाने पर उन्होंने अपने मामले को लेकर कार्रवाई करने की बात कही तो थाना प्रभारी और मुंशी ने साफ तौर पर आगे का रास्ता दिखा दिया। कहा, यहां कुछ नहीं हो सकता है। इस मामले में लगभग 14 दिन तक भविष्य भटकते रहे। अंतत उन्हें आमरण अनशन आमरण अनशन काही रास्ता नजर आया।
स्कूल संचालक दिलीप कुमार सिंह ने बताया कि जनवरी माह के वेतन को लेकर भविष्य ने स्कूल में काफी हंगामा किया था। शिक्षकों के साथ अभद्र भाषा का उपयोग भी किया था। इसी विषय को लेकर दोनों के बीच विवाद बढ़ा और मामला थाने तक पहुंचा। थाने में जनवरी माह का वेतन और ट्यूशन फी देने के बाद सुलहनामा बनाया गया था। अब फिर से उन्हें मानसिक तौर पर परेशान करने के लिए यह अनशन किया जा रहा है।
एसपी निधि द्विवेदी ने कहा कि मामले की पूरी जानकारी ली जा रही है। थाने में भविष्य के साथ क्या हुआ इसका भी पता लगाया जाएगा। जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

This post has already been read 8899 times!

Sharing this

Related posts