लोकसभा चुनाव के ऐलान की तिथि नजदीक, शिलान्यास और उद्घाटन कार्यक्रमों की आई बाढ़

नई दिल्ली । लोकसभा चुनाव की घोषणा आठ या नौ मार्च को होने की संभावना के मद्देनजर केन्द्र और राज्य सरकारें ताबड़तोड़ उद्घाटन और शिलान्यास कर रही हैं। सत्ता पक्ष, विपक्षी निजामों तथा नेताओं को भी उम्मीद है कि केन्द्रीय चुनाव आयोग इन तिथियों में लोकसभा चुनाव का ऐलान कर देगा।
इस बारे में चुनाव आयोग के एक पूर्व वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि 2014 में चुनाव आयोग ने चार मार्च को लोकसभा चुनाव की तिथियों की घोषणा की थी। इस बार यह पांच दिन देरी से होने की संभावना जताई जा रही है। आठ मार्च तक तो प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी और उ.प्र. के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उद्घाटन और शिलान्यास वाले कई बड़े सरकारी कार्यक्रम तय हैं। इनका आठ मार्च को तो 30 हजार करोड़ रुपये की लागत वाली गाजियाबाद-मेरठ रैपिड रेल ट्रांसपोर्ट की आधारशिला रखने का कार्यक्रम है। दिल्ली को पश्चिमी उत्तर प्रदेश से जोड़ने वाले 14 लेन के हाईवे के बाद यह दूसरी बड़ी परियोजना है। इससे दिल्ली, एनसीआर व उत्तर प्रदेश को बड़ा फायदा होगा।
इसके अलावा दिलशाद गार्डन – गाजियाबाद बस अड्डा तक विस्तारित मेट्रो रूट पर इसके परिचालन को हरी झंडी दिखाने का भी कार्यक्रम है। ब्लू लाइन मेट्रो का परिचालन सेक्टर 32 से बढ़ाकर सेक्टर 63 तक करने का कार्य वर्षों से लंबित है। इसे नोएडा से ग्रेटर नोएडा मेट्रो शुरू होने से पहले ही शुरू कर दिया जाना था लेकिन इसे बजट की कमी के बहाने लापरवाह मेट्रो प्रबंधन ने लटकाए रखा। अब लोकसभा चुनाव है तो इसका परिचालन भी आठ मार्च को शुरू किया जा सकता है। इस बार भी केन्द्र की सत्ता की कुंजी 80 लोकसभा सीटों वाले उ.प्र. के ही हाथ में है। इसलिए यहां से 2014 की तरह अधिक से अधिक लोकसभा सीटें जीतने के लिए कई बड़ी परियोजनाओं के उद्घाटन के साथ कई का शिलान्यास कार्यक्रम करके प्रदेश की जनता को यह संदेश दिया जा रहा है कि बीते पांच साल में इतना विकास किया, फिर आयेंगे तो इससे भी ज्यादा करेंगे। वह भी पूरा करेंगे, जिसका शिलान्यास कर रहे हैं।

This post has already been read 6656 times!

Sharing this

Related posts