मेजर विभूति का सैन्य सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

हरिद्वार। पुलवामा में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल का पार्थिक शरीर मंगलवार को पंचतत्व में विलीन हो गया। हरिद्वार के खड़खड़ी श्मशान घाट पर शहीद के चाचा जगदीश प्रसाद ढौंडियाल ने उनकी पार्थिव शरीर को मुखाग्नि दी। इस मौके पर शहीद को अंतिम विदाई देने सैकड़ौं लोग श्मशान घाट पर पहुंचे। हर किसी की आंखें नम थी और जुबां पर बस एक ही नारा था कि जब तक सूरज चांद रहेगा, विभूति तेरा नाम रहेगा।
उल्लेखनीय है कि सोमवार को देर शाम शहीद मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल का पार्थिक शरीर उनके देहरादून स्थित आवास पर लाया गया था। मंगलवार सुबह से ही शहीद को श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा रहा। शहीद की अंतिम यात्रा में जनसैलाब सड़क पर उमड़ पड़ा था। हर कोई नम आंखों से शहीद को अंतिम विदाई दे रहा था। हरिद्वार के खड़खड़ी घाट पर पूरे सैन्य सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया गया। शहीद की चिता को उनके चाचा जगदीश प्रसाद ढौंडियाल ने मुखाग्नि दी। इस दौरान मौजूद कई लोगों ने शहीद को श्रद्धासुमन अर्पित किए।

 

This post has already been read 6267 times!

Sharing this

Related posts