तिरंगे में लौटा लाल, रांची एयरपोर्ट पर दी गई लेफ्टिनेंट अनुराग को भावभीनी श्रद्धांजलि



रांची । पलामू जिला के मेदिनीनगर सिंगरा खुर्द निवासी लेफ्टिनेंट अनुराग शुक्ला का पार्थिव शरीर तिरंगे लिपटा हुआ रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट रविवार को पहुंचा। पार्थिव शरीर के पहुंचते ही जयहिंद और वंदमातरम के नारों से एयरपोर्ट परिसर गूंज उठा। लोग वीर अनुराग अमर रहे को नारे लगा रहे थे। यहां सेना के जवानों ने उन्‍हें श्रद्धांजलि दी। शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए एयरपोर्ट पर झारखंड के नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, डीसी राय महिमापत रे, एसएसपी अनीष गुप्‍ता समेत सेना के अधिकारी सहित कई सामाजिक कार्यकर्ता भी मौजूद थे। एयरपोर्ट पर शव पहुंचते ही परिजन फफक-फफक कर रो पड़े। उनके चित्‍कार से माहौल गमगीन हो गया। एयरपोर्ट पर मौजूद लोगों की आंखें भी नम हो गयी। एयरपोर्ट से शहीद के पार्थिव शरीर को पुंदाग स्थित आवास पर ले जाया गया। पार्थिव शरीर आज रांची स्थित आवास पर ही रहेगा। 22 अप्रैल की सुबह पांच बजे अनुराग का पार्थिव शरीर रांची से मेदिनीनगर के सिंगरा खुर्द ले जाया जायेगा। उनका अंतिम संस्कार वहीं होगा।
दो दिन पहले शुक्रवार की दाेपहर 2.30 बजे राजस्थान के गंगानगर में इंटर कंपनी तैराकी अभ्यास के दाैरान तरसेम सिंह के खेत में बनी डिग्गी में जवान सर्वजीत सिंह डूबने लगे ताे लेफ्टिनेंट अनुराग शुक्ला बचाने के लिए कूद गए। अनुराग ने सर्वजीत सिंह काे ताे बचा लिया, लेकिन वे खुद डूब गए। उन्हें गजसिंहपुर के अस्पताल में ले जाया गया। वहां शाम 5 बजे निधन हो गया। बाद में पाेस्टमाॅर्टम के लिए शव श्रीकरणपुर के सरकारी अस्पताल ले जाया गया। ट्रेनिंग के बाद लेफ्टिनेंट अनुराग की 10 जेके राइफल में यह पहली पोस्टिंग हुई थी। करीब सवा छह महीने पहले उनकी पोस्टिंग श्रीगंगानगर में हुई थी। पुलवामा हमले के बाद भारत-पाकिस्तान तनाव के चलते लेफ्टिनेंट शुक्ला पोस्टिंग के बाद घर भी नहीं जा पाए थे।

This post has already been read 5260 times!

Sharing this

Related posts