झारखंड की तानाशाह सरकार को हटायेगी पार्टी : कांग्रेस

रांची। कांग्रेस के झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा कि राज्य की तानाशाह रघुवर सरकार आदिवासी, नौजवान विरोधी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस तानाशाह सरकार को हटाने के लिए तैयार है। सिंह ने शनिवार को मोरहाबादी मैदान में प्रदेश कांग्रेस की ओर से आयोजित परिवर्तन उलगुलान रैली में कहा कि भाजपा सरकार ने राज्य की संस्कृति और पंरपरा को बिगाड़ने का काम किया है। यहां के भाइचारे को मिटाने का काम किया। जिसे पार्टी बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस भाजपा सरकार को उखाड़ फेकेंगी। उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता अपने अपने गांव में जाकर चुनाव का बिगुल फूंकेंगे। हम सहयोगी दल के साथ मिलकर भाजपा सरकार को हटायेंगे।
मौके पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार ने कहा कि झारखंड रो रहा है। राज्य में 40 प्रतिशत आबादी गरीबी रेखा के नीचे है। झारखंड में शिक्षा दर 29 प्रदेशों से कम है। उन्होंने कहा कि यहां के सात प्रतिशत बच्चे कुपोषित हैं। लेकिन सरकार इस दिशा में गंभीर नहीं है। भाजपा सरकार ने सीएनटी और एसपीटी एक्ट बदलने की कोशिश की। लेकिन पार्टी द्वारा जोरदार आंदोलन करने पर इसे वापस लेना पड़ा। उन्होंने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार उद्योगपतियों को जमीन देने के लिए भूमि अधिग्रहण कानून में संशोधन करने का काम कर रही है। जिसे पार्टी बर्दाश्त नहीं करेगी। गोड्डा में निजी कंपनी को जमीन देने के लिए 1280 हेक्टेयर किसानों की जमीन छीन ली गयी। यहां के किसानों का शोषण हो रहा है। राज्य की जनता परेशान है। सरकार उद्योगपतियों को जमीन दे रही है। सरकार मोमेंटम झारखंड कर रही है। उद्योगपतियों को आने जाने के लिए 440 चार्टड प्लेन दिये। लेकिन एक भी उद्योगपति ने यहां उद्योग नहीं लगाया। झारखंड में बेरोजगारी अधिक है। सरकार सात हजार रूपये में यहां के नौजवानों को दिल्ली, बेंगलुरू सहित अन्य शहरों में नौकरी के लिए भेज रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मेरा बूथ सबसे मजबूत कार्यक्रम चला रहे हैं। उन्हें मेरा झूठ सबसे मजबूत कार्यक्रम चलाना चाहिए। राज्य में भूख से लोगों की मौत हो रही है। राज्य में गत वर्ष कुपोषण से 800 बच्चों की मौत हुई। राज्य के 11 लाख परिवारों के राशन कार्ड रद्द कर दिये गये। उन्होंने कहा कि देश राहुल गांधी के नेतृत्व को देख रहा है। राज्य के पारा शिक्षकों को 10 हजार रूपये मानदेय दिया जा रहा है, जबकि शराब बेचने वाले को 35 हजार दिया जा रहा है।
रैली को संबोधित करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने कहा कि वर्तमान सरकार फेंकू है। सरकार ने हाथी उड़ाने के नाम पर करोड़ो रूपये फूंक दिये। मुख्यमंत्री रघुवर दास कहते हैं कि डबल इंजन की सरकार है। लेकिन रांची-टाटा रोड का काम कछुए की चाल से चल रहा है। उन्होंने कहा कि मॉब लिंचिंग की शुरूआत झारखंड से हुई। दर्जनों लोगों को सरकार के संरक्षण में मार दिया गया। केंद्रीय मंत्री जयंती सिन्हा ऐसे लोगों को माला पहनाकर उनका स्वागत करते हैं। उन्होंने कहा कि सीएनटी और एसपीटी एक्ट में संशोधन का प्रयास सरकार ने किया। भारी विरोध के बाद सरकार को इसे वापस लेना पड़ा। उन्होंने कहा कि राज्य में काफी संख्या में विस्थापन हो रहा है। कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, पूर्व मंत्री नियेल तिर्की, केएन त्रिपाठी, मन्नान मल्लिक और विधायक गीता कोड़ा सहित पार्टी के अन्य नेताओं ने भी रैली को संबोधित किया।

This post has already been read 5861 times!

Sharing this

Related posts