Jharkhand : सूर्य के डूबने के बाद भी, अब सौर ऊर्जा से जगमगाएगा गांव

Ranchi : सूर्य की उष्मा को संरक्षित कर अंधकार मिटाने के लिए झारखंड सरकार द्वारा बड़े पैमाने तैयारी शुरू की गयी है। पर्यावरण के लिए अनुकूल सौर ऊर्जा को झारखंड में तेजी से अपनाया जा रहा है। इससे जुड़ी योजनाओं को राज्य सरकार प्राथमिकता के स्तर पर पूरा करने में जुटी है। झारखंड सरकार का फोकस उन गांव को कवर करना है जहां विपरीत भौगोलिक परिस्थिति है!

और पढ़ें : तालिबान में स्कूल खुले, लेकिन सिर्फ पुरुषों के लिए महिलाओं को स्कूल में जाने की अनुमति नहीं

सघन वन क्षेत्रों और पहाड़ों के बीच बसे 573 घरों का सौर ऊर्जा के जरिए विद्युतीकरण किया जाएगा ! सौर ऊर्जा का इस्तेमाल जहां पर्यावरण के अनुकूल है, वहीं इसका खर्च भी विद्युत प्रतिष्ठानों से आपूर्ति की जाने वाली बिजली से कम है! जरेडा के जरिए सौर ऊर्जा योजनाओं को धरातल पर उतारने की मुहिम चल रही है!

माननीय मुख्यमंत्री महोदय के विधानसभा क्षेत्र के करीब 15 गांव में सोलर होम लाइटिंग सिस्टम के माध्यम से विद्युतीकरण का कार्य जोर से चल रहा है! जिसमें करीब 573 घरों को विद्युतीकरण किया जाएगा! विदित हो कि इन गांवों में अभी तक बिजली नहीं पहुंची थी और तार के माध्यम से बिजली पहुंचाना यहां असंभव सा था !

इसे भी देखे : बालूमाथ में करम की डाली विसर्जन करने गई सात बच्चियों की मौत

इसलिए जरेडा द्वारा इन गांव में सोलर से विद्युतीकरण का कार्य किया जा रहा है, जिससे कि ग्रामीणों में काफी हर्ष है! आने वाले समय में बरहेट प्रखंड के 8 गांव में सोलर डी डी जी के माध्यम से पूरे गांव का विद्युतीकरण किया जाना है! जिसके लिए कार्य प्रारंभ हो चुका है और अक्टूबर तक कार्य समाप्त होने की संभावना !

This post has already been read 28734 times!

Related posts